Gemini AI क्‍या है? गूगल ने क्‍यों टाल दी इसकी लॉन्चिंग, जानें


What is Gemini AI : टेक दिग्‍गज गूगल (Google) किसी भी प्रोडक्‍ट को ठोक-पीटकर पेश करती है। गलती की कोई गुंजाइश नहीं रहने देती। लगता है कि अपने नए AI सिस्‍टम को लाने में भी वह कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती। इस एआई सिस्‍टम का नाम है- जेमिनी AI (Gemini AI)। कहा जाता है कि जेमिनी एआई का सीधा मुकाबला OpenAI के चैटजीपीटी से होगा। जेमिनी AI को अगले हफ्ते लॉन्‍च करने की तैयारी थी और गूगल ने कैलिफोर्निया, न्यू-यॉर्क और वॉशिंगटन में इवेंट्स की एक सीरीज आयोजित करने का मन बना लिया था। इन इवेंट्स को कैंसल कर दिया गया है। 

द इन्‍फर्मेशन की रिपोर्ट में बताया गया है कि जेमिनी इवेंट्स को गूगल सीईओ सुंदर पिचाई ने कैंसल किया है। कंपनी को पता चला कि AI ने कुछ नॉन-इंग्लिश सवालों के सही जवाब नहीं दिए। दावा किया जा रहा है कि गूगल का एआई मॉडल नॉन-इंग्लिश सवालों का सही से जवाब नहीं दे पा रहा है। याद रहे कि इसी साल गूगल की ओर से कहा गया था कि जेमिनी एआई, चैटजीपीटी से ज्‍यादा काबिल होगा। 
  
जाहिर है कि उसमें जरा सी भी खामी को कंपनी गंभीरता से ले रही है। गूगल ने अपनी डेवलपर कॉन्‍फ्रेंस में एआई प्रोजेक्‍ट्स का ऐलान किया था। कयास लगाए जा रहे थे कि जेमिनी एआई को जल्‍द पेश कर दिया जाएगा। अब यह इवेंट जनवरी में होने की उम्‍मीद है। 

रिपोर्ट के अनुसार, जेमिनी एआई को चैटजीपीटी से बेहतर ऑप्‍शन बनाने के लिए दुनियाभर की भाषाओं का सपोर्ट जरूरी है। जब तक जेमिनी एआई, नॉन इंग्लिश सवालों के सटीक सही जवाब देने में निपुण नहीं हो जाता, कंपनी इसे दुनिया के मार्केट में नहीं लाना चाहेगी। 

मौजूदा वक्‍त की बात करें, तो चैटजीपीटी से मुकाबला करने वाला कोई पॉपुलर टूल नहीं है। ओपनएआई को इसका सीधा फायदा मिल रहा है। कंपनी अपने प्रीमियम यूजर्स को नए फीचर भी दे रही है। हाल में उसने सांताजीपीटी लॉन्‍च किया है, जो क्रिसमस के लिए खासतौर पर बनाया गया है। 

 

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

संबंधित ख़बरें



Source link