Bharat-NCAP टेस्ट में 5-स्टार रेटिंग हासिल करने वाली पहली कार बनी Tata Harrier और Tata Safari


टाटा मोटर्स (Tata Motors) ने बीते बुधवार को घोषणा की थी कि हाल ही में लॉन्च की गई हैरियर (Tata Harrier) और सफारी (Tata Safari) के फेसलिफ्ट मॉडल्स को Bharat-NCAP क्रैश टेस्ट से पांच स्टार (Tata 5 Star ratings) मिले हैं। इसी के साथ ये दोनों Tata SUVs भारत में नए स्थापित न्यू कार असेसमेंट प्रोग्राम (B-NCAP) में फुल स्कोर प्राप्त करने वाले पहले मॉडल्स बन गए हैं, जिसमें वयस्क यात्री सुरक्षा और बाल यात्री सुरक्षा दोनों कैटेगरी शामिल हैं। B-NCAP भारत का अपना कार क्रैश टेस्ट प्रोग्राम है, जिसे 1 अक्टूबर, 2023 को लॉन्च किया गया था। यह प्रोग्राम भारत में कारों के सेफ्टी स्टैंडर्ड्स को बढ़ाने के लिए शुरू किया गया था। B-NCAP के तहत, भारत में बेची जाने वाली सभी कारों को क्रैश टेस्ट किया जाएगा। इन टेस्ट में कारों की सुरक्षा के तीन पहलुओं – वयस्क यात्री सुरक्षा (AOP), बाल यात्री सुरक्षा (COP) और सुरक्षा सहायता प्रणालियां (SAS) का मूल्यांकन किया जाएगा।

Tata की इस उपलब्धि पर बोलते हुए केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि B-NCAP खुद को घरेलू बाजार में प्रीमियर सुरक्षा प्रदर्शन मूल्यांकन प्रोटोकॉल के रूप में स्थापित करेगा। उनका कहना है कि इस सिस्टम में अधिक मैन्युफैक्चरर अपने वाहनों को टेस्ट कर सकेंगे और असेसमेंट ग्लोबल स्टैंडर्ड्स के समान होंगे।
 

Latest and Breaking News on NDTV

Photo Credit: Tata Motors

उन्होंने अपने बयान में कहा “भारत-एनसीएपी वाहन सुरक्षा पर भारत की स्वतंत्र, आत्मनिर्भर आवाज है। इसे सर्वोत्तम कैटेगरी के ग्लोबल स्टैंडर्ड के लिए बेंचमार्क किया गया है और भारत-एनसीएपी वाहन रेटिंग सिस्टम को अनिवार्य नियमों से परे सड़क सुरक्षा और वाहन सुरक्षा मानकों को आगे बढ़ाने के लिए डिजाइन किया गया है।” उन्होंने आगे Tata Motors के दोनों SUVs द्वारा टेस्ट रेटिंग में फुल मार्क्स हासिल करने पर कहा, “मुझे खुशी है कि आज सबसे अधिक प्राप्त करने योग्य 5-स्टार रेटिंग के साथ प्रमाणित होने वाले पहले वाहन, दोनों टाटा मोटर्स के हैं।”

बता दें, Tata Motors के अनुसार, नई टाटा हैरियर और सफारी को ग्लोबल NCAP द्वारा भी पांच स्टार दिए गए थे। ग्लोबल एनसीएपी के क्रैश टेस्ट प्रोटोकॉल में इलेक्ट्रॉनिक स्टेबिलिटी कंट्रोल (ESC) के साथ फ्रंटल और साइड इफेक्ट सेफ्टी का आकलन किया जाता है। इसके अलावा, यदि कोई वाहन पांच स्टार हासिल करता है, तो उसका मतलब है कि उसने पैदल यात्री सुरक्षा और साइड इफेक्ट पोल सुरक्षा टेस्ट को भी पास किया है।

इसमें कोई शक नहीं है कि Tata Safari और Harrier के फेसलिफ्ट मॉडल्स द्वारा इस टॉप रेटिंग को हासिल करने के पीछे इनमें स्टैंडर्ड रूप से शामिल 6 एयरबैग (टॉप-एंड वेरिएंट में 7 एयरबैग), सभी पंक्तियों में 3-पॉइंट सीटबेल्ट, ISOFIX टेथर्स, प्रीटेंशनर, लोड लिमिटर और ESC जैसे एडवांस सेफ्टी फीचर्स शामिल हैं।

टाटा मोटर्स पैसेंजर व्हीकल्स लिमिटेड और टाटा पैसेंजर इलेक्ट्रिक मोबिलिटी लिमिटेड के एमडी शैलेश चंद्रा ने भारत में उच्च सुरक्षा मानकों की खोज में सरकार, रेगुलेटर्स और ऑटोमोटिव इंडस्ट्री के सहयोगात्मक प्रयासों को स्वीकार किया और उनकी सराहना की। दोनों एसयूवी ओमेगा-एआरसी प्लेटफॉर्म पर बनाई गई हैं, जो लैंड रोवर के डी8 आर्किटेक्चर से लिया गया है।
 



Source link