संसद से परे हमारे कार्यों की जांच कोई भी सत्ता नहीं कर सकती: राज्यसभा में बोले सभापति जगदीप धनकड़


राज्यसभा के सभापति जगदीप धनकड़ ने कहा है कि सदन के सदस्यों के कार्यों की जांच का अधिकार संविधान के तहत संसद से परे किसी सत्ता का नहीं है।

India

oi-Anjan Kumar Chaudhary

loading

Google Oneindia News
loading
rajya-sabha-chairman-jagdeep-dhankar-said-no-authority-can-scrutinise-our-actions-beyond-parliament

राज्यसभा
के
सभापति
जगदीप
धनकड़
ने
कहा
है
कि
संसद
से
परे
ऐसी
कोई
सत्ता
नहीं
है,
जो
सदन
के
सदस्यों
के
कार्यों
की
जांच
कर
सकती
है।
धनकड़
ने
यह
तब
कहा
जब
कांग्रेस
सांसद
रजनी
अशोकराव
पाटिल
को
बजट
सत्र
के
मौजूदा
हिस्से
के
लिए
सदन
की
कार्यवाही
का
वीडियो
बनाने
के
आरोपों
के
चलते
निलंबित
करने
का
प्रस्ताव
पेश
किया
गया।
धनकड़
तृणमूल
कांग्रेस
के
सांसद
जवाहर
सरकार
के
उस
सुझाव
का
जवाब
दे
रहे
थे,
जिसमें
उन्होंने
कहा
था
कि
विपक्ष
नहीं
चाहता
कि
आसन
से
कोई
ऐसा
फैसला
हो,
जिसपर
कानून
के
किसी
फोरम
में
सवाल
उठे।


‘संसद
से
परे
हमारे
कार्यों
की
जांच
कोई
भी
सत्ता
नहीं
कर
सकती’

टीएमसी
सांसद
जवाहर
सरकार
ने
आसन
से
कहा,
ऐसा
कदम
नहीं
उठाया
जाए
जो
टिकाऊ
नहीं
हो।
उनकी
दलील
थी
कि
ट्विटर
हैंडल
पर
पोस्ट
किए
गए
एक
वीडियो
से
जो
सदन
की
कार्यवाही
के
बाद
हुई,
उससे
सदन
‘भूतलक्षी
तौर
पर
बाधित’
नहीं
हो
सकती।
इसपर
सभापति
धनकड़
बोले,
‘मैं
सदन
को
विश्वास
दिलाता
हूं
कि
संसद
से
परे
ऐसी
कोई
सत्ता
नहीं
है,
जो
हमारे
कार्यों
की
जांच
करे……मैंने
7
दिसंबर,
2022
को
भी
संकेत
दिया
था,
मैं
दोहराता
हूं-
हम
संविधान
के
अल्टीमेट
आर्किटेक्ट
हैं।
संविधान
के
तहत
ऐसी
कोई
सत्ता
नहीं
है,
जो
उन
मुद्दों
की
ओर
देख
भी
सके,
जो
हमारे
मतलब
का
है।’


‘मैं
अपने
मतदाताओं
के
विश्वास
की
रक्षा
करूंगा’

धनकड़
बोले
कि
सुझाव
दिए
गए
थे
कि
एक
बाहरी
एजेंसी
से
तत्काल
जांच
कराई
जाए,
लेकिन
कहा
कि
इसे
पूरी
तरह
से
खारिज
कर
दिया
गया।
सभापति
ने
कहा,
‘मैंने
कहा
नहीं,
वह
आइडिया
मुझे
नहीं
जंचा….
मैंने
सभापति
के
रूप
में
कहा
कि
मैं
अपने
मतदाताओं
के
विश्वास
की
रक्षा
करूंगा,
हम
इससे
सदन
में
ही
निपटेंगे
और
कोई
भी
बाहरी
सहायता
नहीं
लेंगे।


कांग्रेस
सांसद
को
पूरे
सत्र
के
लिए
किया
है
सस्पेंड

वो
बोले,
पाटिल
‘को
मौजूदा
सत्र
के
बाकी
हिस्से
के
लिए
सस्पेंड
किया
गया
है
और
तबतक
जबतक
कि
सदन
की
विशेषाधिकार
समिति
की
रिपोर्ट
विचार
के
लिए
उपलब्ध
नहीं
होती,
मैं
सदन
के
समक्ष
यह
प्रस्ताव
विचार
के
लिए
रखता
हूं।’
वह
बोले
की
‘सदन
की
भावना
का
ख्याल
रखते
हुए
यह
निर्देश
दिया
जाता
है
कि
वह
सभी
कदम
उठाए
जाएं
जो
निलंबित
सांसद
पर
लागू
होता
है
और
यह
मौजूदा
सत्र
के
बाद
बचे
समय,
विशेषाधिकार
समिति
की
रिपोर्ट
सदन
के
विचार
के
लिए
उपलब्ध
होने
तक
के
लिए
है….’

इसे भी पढ़ें- राज्यसभा की कार्यवाही का वीडियो बनाने पर नप गईं कांग्रेस सांसद, सभापति धनकड़ ने पूरे सत्र के लिए निकालाइसे
भी
पढ़ें-
राज्यसभा
की
कार्यवाही
का
वीडियो
बनाने
पर
नप
गईं
कांग्रेस
सांसद,
सभापति
धनकड़
ने
पूरे
सत्र
के
लिए
निकाला

Recommended
Video

Rajyasabha
में
PT
Usha
Presiding
Officer
की
ज़िम्मेदारी
मिलने
पर
क्या
बोलीं
?
|
वनइंडिया
हिंदी

गुरुवार
को
जब
प्रधानमंत्री
नरेंद्र
मोदी
राष्ट्रपति
के
अभिभाषण
पर
धन्यवाद
प्रस्ताव
पर
हुई
बहस
का
जवाब
दे
रहे
थे,
तो
विपक्षी
सांसद
जबरन
सदन
के
वेल
में
घुस
आए
थे
और
पीएम
मोदी
के
पूरे
90
मिनट
के
भाषण
के
दौरान
नारेबाजी
करते
रहे।
कांग्रेस
एमपी
मुकुल
वासनिक
का
आरोप
है
कि
इस
दौरान
लाइव
टेलीकास्ट
में
भेदभाव
किया
गया
और
सिर्फ
प्रधानमंत्री
मोदी
के
भाषण
और
ट्रेजरी
बेंच
की
ओर
ही
फोकस
किया
गया।

  • loading
    ‘नाबालिग गर्भवती की अस्पताल ले जाते समय मौत’, कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई ने CM पर साधा निशाना
  • loading
    अडानी मामले को लेकर राज्यसभा में हंगामा, कांग्रेस-विपक्ष ने किया वॉकआउट
  • loading
    छत्तीसगढ़: धान खरीदी पर घमासान, कांग्रेस बोली- केंद्र 1 किलो धान भी नही खरीदता
  • loading
    MP News: Kamal nath के चुनाव लड़ने पर बढ़ा सस्पेंस, बयानों के बीच ढाल बनी पार्टी, दिल्ली तक हलचल
  • loading
    Rajasthan Budget: राज्य में किसानों को 2000 यूनिट बिजली मुफ्त
  • loading
    MP Congress से कमलनाथ या दिग्विजय सिंह किसकी खुलेगी लॉटरी? रायपुर के राष्ट्रीय अधिवेशन में हो सकता है फैसला
  • loading
    Mallikarjun Kharge ने उपराष्ट्रपति को लिखा पत्र, कहा- सरकार की आलोचना किसी पर निजी आरोप नहीं
  • loading
    Chhattisgarh: झीरम घाटी हत्याकांड जांच आयोग का कार्यकाल बढ़ा, BJP ने उठाये सवाल, CM भूपेश ने दिया जवाब
  • loading
    ‘मोदी-अडानी भाई-भाई’ नारों के बीच PM मोदी का खड़गे पर निशाना, भाषण सुनने के लिए परेशान दिखे कांग्रेस अध्यक्ष
  • loading
    ‘वो कौन थे जिन्होंने 90 बार चुनी हुई सरकारों को गिरा दिया ?’ आर्टिकल 356 के दुरुपयोग पर बोले पीएम मोदी
  • loading
    महाराष्ट्र में कांग्रेस की लड़ाई कहीं MVA को न ले डूबे, क्या उद्धव गुट बढ़ा रहा है विवाद ?
  • loading
    हरीश रावत ने की प्रीतम सिंह से मुलाकात, क्या उत्तराखंड कांग्रेस में होने जा रहा बड़ा उलटफेर?

English summary

Rajya Sabha Chairman Jagdeep Dhankar has said that no external authority can investigate the work of the members of the House. Speaking on the issue of suspension of Congress MP Rajani Patil,

Story first published: Friday, February 10, 2023, 21:56 [IST]



Source link