यमन के हूतियों ने कारोबारी जहाज पर किया मिसाइल अटैक, गई लोगों की जान – India TV Hindi


यमन के हूतियों ने कारोबारी जहाज पर किया मिसाइल अटैक- India TV Hindi

Image Source : AP
यमन के हूतियों ने कारोबारी जहाज पर किया मिसाइल अटैक

Houthi Rebels Attack: यमन में हूती विद्राहियों द्वारा लाल सागर में आने जाने वाले जहाजों पर लगातार निशाना बनाया जा रहा है। वे कारोबारी जहाजों को जो इजराइल और अमेरिका या उनके दोस्त देशों के हैं, उन पर लगातार अटैक कर रहा है। ब्रिटेन और अमेरिका ने हूती विद्रोहियों के ठिकानों पर ताबड़तोड़ हवाई अटैक किए हैं, इसका भी हूतियों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ रहा है। वे कारोबारी जहाजों को लगातार निशाना बना रहे हैं। ऐसा ही एक ताजा मामला फिर सामने आया है, जब बुधवार को अदन की खाडी में एक व्यापारी जहाज पर हूतियों ने मिसाइल से जोरदार अटैक किया।

मिली जानकारी के अनुसार हूती विद्रोहियों के मिसाइल अटैक में कारोबारी जहाज के चालक दल के दो सदस्यों की मौके पर ही मौत हो गई। गाजा में हमास के खिलाफ इजराइल के युद्ध छेड़ने के बाद यह हूती विद्रोहियों का पहला हमला है, जिसमें लोगों की जान गई है। हमला बारबाडोस के ध्वज वाले जहाज ट्रू कॉन्फिडेंस पर हुआ। इस हमले के बाद एशिया और मध्य पूर्व को यूरोप से जोड़ने वाले महत्वपूर्ण समुद्री मार्ग पर संघर्ष बढ़ गया है। जिससे जहाजों की वैश्विक आवाजाही बाधित हो गई है।

नवंबर से शुरू हुए थे हूतियों के हमले

ईरान समर्थित हूतियों ने नवंबर में हमले शुरू किए थे और अमेरिका ने जनवरी में हवाई हमलों का अभियान शुरू किया था। अमेरिका ने कई बार हूती विद्राहियों के ठिकानो को ध्वस्त किया, लेकिन वह अब तक हूतियों के हमलों को रोक नहीं पाया है। इसी बीच, ईरान ने एक बड़ी घोषणा की है, जिससे अमेरिका हैरान हो गया है। ईरान ने अपनी घोषणा में कहा कि वह अमेरिकी ऊर्जा कंपनी शेवरॉन कॉर्प को भेजे जा रहे पांच करोड़ डॉलर मूल्य के कुवैती कच्चे तेल को जब्त कर लेगा। 

अमेरिकी अधिकारियों ने किया यह खुलासा

बताया जा रहा है कि यह कच्चा तेल उस टैंकर में है, जिसे उसने करीब एक साल पहले जब्त किया था। अधिकारियों ने कहा कि अदन की खाड़ी में बुधवार को हुए हमले में बारबाडोस के ध्वज वाले ट्रू कॉन्फिडेंस नामक कारोबारी जहाज को निशाना बनाया गया। इसके बाद यमनी सैनिक होने का दावा करने वाले व्यक्तियों ने रेडियो पर इस हमले की सराहना की। दो अमेरिकी अधिकारियों ने नाम सार्वजनिक नहीं करने की शर्त पर बताया कि बैलिस्टिक मिसाइल हमले में जहाज पर सवार चालक दल के दो सदस्यों की मौत हो गई और 6 अन्य घायल हो गए। 

अमेरिकी विध्वंसक जहाजों पर भी हमले कर रहे हू​ती विद्रोही

यमन के हूती विद्रोही कारोबारी जहाजों को ही नहीं, अमेरिकी विध्वंसक जहाजों को भी लगातार निशाना बना रहे हैं। बता दें कि हाल ही में लाल सागर में हूती विद्रोहियों ने अमेरिकी जंगी विध्वंसक जहाजों पर हमला किया। रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार हूती विद्रोहियों ने एक अभियान चलाया और उन्होंने लाल सागर में दो अमेरिकी युद्धपोत विध्वंसकों को निशाना बनाया। हूती विद्रोहियों का कहना है कि उन्होंने लाल सागर में अमेरिका के दो युद्धक जहाजों पर मिसाइलों और ड्रोन से हमला किया। 

अमेरिका और ब्रिटेन भी हूतियों के ठिकानों को बना रहे निशाना

इससे पहले अमेरिका और ब्रिटेन ने संयुक्त रूप से हू​ती विद्राहियों के ठिकानों को कई बार निशाना बनाया है। कुछ दिन पहले अमेरिका और ब्रिटेन ने यमन में हूती विद्रोहियों के 18 ठिकानों पर को हमले किए थे। ईरान समर्थित स्थानीय लड़ाकों के लाल सागर और अदन की खाड़ी में पोतों पर हाल में बढ़ते हमलों के जवाब में ये हमले किए गए थे।

हूतियों के हमले से मालवाहक जहाज में लगी थी आग

हूती विद्रोहियों ने इससे पहले एक मिसाइल हमला किया था, जिसके कारण एक मालवाहक पोत में आग लग गई थी। इसके बाद अमेरिका और ब्रिटेन के लड़ाकू विमानों ने मिसाइल, लॉन्चर, रॉकेट, ड्रोन और हवाई रक्षा प्रणालियों को निशाना बनाते हुए आठ स्थानों पर हमले किए। अमेरिका और ब्रिटेन की सेनाओं ने 12 जनवरी के बाद से कई बार हूती विद्रोहियों के खिलाफ संयुक्त अभियान चलाया है। 

Latest World News





Source link