पुलिस का ये AI चैटबॉट आपको बचाएगा साइबर क्राइम से, बस WhatsApp पर 'Hi' लिखना है!


AI चैटबॉट कई पेचीदा सवालों के जवाब देने में सक्षम होते हैं, लेकिन सूरत पुलिस इसका उपयोग आपको साइबर क्राइम से बचाने के लिए कर रही है। पिछले कुछ समय से साइबर क्राइम की घटनाओं में जबरदस्त बढ़ोतरी देखी गई है। आजकल ज्यादातर मामले ऐसे रिपोर्ट हो रहे हैं, जिनमें स्कैमर्स आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग कर रहे हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए सूरत सिटी पुलिस ने देश का पहला एआई-संचालित चैटबॉट लॉन्च किया है, जिसे “सूरत साइबर मित्र” नाम दिया गया है। इसका उद्देश्य नागरिकों को महत्वपूर्ण जानकारी और मार्गदर्शन देना है, जिससे वे ऑनलाइन फ्रॉड या स्कैम से बच सके।

FPJ की रिपोर्ट के अनुसार, सूरत साइबर क्राइम एसीपी एपी गोहिल ने चैटबॉट को पेश करते हुए कहा, “एहतियात ही सावधानी है।” “सूरत साइबर मित्र सूरत को एक साइबर-सुरक्षित शहर बनाने की हमारी प्रतिबद्धता का प्रमाण है। भारत में कोई भी व्यक्ति WhatsApp नंबर 93285-23417 पर ‘Hi’ भेजकर चैटबॉट से जुड़ सकता है।”

चैटबॉट 24/7 ऑपरेट करता है और यह पूरी तरह से मानवरहित सूचना केंद्र है। साइबर स्कैम का सामना करने की स्थिति में, चैटबॉट तुरंत कार्रवाई कदम प्रदान करता है और शिकायत रजिस्टर करने के प्रोसेस के जरिए यूजर का मार्गदर्शन करता है।

रिपोर्ट के अनुसार, इसमें यूजर्स स्पैम कॉल, ईमेल और लिंक की रिपोर्ट कर सकते हैं, फाइनेंशियल और सोशल मीडिया स्कैम की जानकारी और रोकथाम के तरीके जान सकते हैं, सोशल मीडिया स्कैम की शिकायत का प्रोसेस शुरू कर सकते हैं, सोशल मीडिया प्राइवेसी सेटिंग्स के बारे में जान सकते हैं और यहां तक ​​कि अपने स्थानीय पुलिस स्टेशन के संपर्क की सभी जानकारी भी प्राप्त कर सकते हैं।

चैटबॉट तीन भाषाओं में अपनी सेवाएं प्रदान करता है: गुजराती, हिंदी और अंग्रेजी। यह पहल सूरत के “साइबर सुरक्षित सूरत” कार्यक्रम का लेटेस्ट प्रोडक्ट है, जो डिजिटल युग में साइबर क्राइम से निपटने के लिए एक व्यापक प्रयास है। 



Source link