दिल की सेहत से जुड़े ये योगासन होते है काफी लाभदायक, आपको करने चाहिए अपनी दिनचर्या में शामिल


Yoga Asanas: योग आसन हमेशा स्वास्थ्य के लिए लाभदायक माने जाते हैं. स्वास्थ्य और वजन के मामले में योग लोगों की पहली पसंद है. दिल की सेहत के लिए, कई योग आसन हैं जो इसके स्वास्थ्य के लिए अच्छे होते हैं. हालांकि, व्यायाम करते समय सावधान रहना चाहिए, इस आर्टिकल में कई योग मुद्राएं हैं जो सीधे दिल के स्वास्थ्य से जुड़ी हैं. इसमें कुछ आसन शामिल हैं जो आपको दिल की बीमारी होने से बचाते है. योग करने से ना सिर्फ आप फिट रहते हैं बल्कि आपका दिल भी जवां रहता है. योग करने से तनाव से छुटकारा मिलता है. साथ ही कुछ योगासन करने से सीधा हमारे ब्लड सर्कुलेशन पर असर पड़ता है. जो दिल की सेहत के लिए लाभदायक रहता है. 

वीरभद्रासन योग

योद्धा मुद्रा यानि वीरभद्रासन योग को दिल के लिए सबसे अच्छा योगासन कहा जाता है. यह हृदय गति को नियंत्रण में रखता है और ब्लड सर्कुलेशन में भी सुधार करता है. यह तनाव से जुड़े खतरे को कम करके हृदय स्वास्थ्य का काम भी करता है. इस योग मुद्रा में फेफड़े और खड़े मुद्रा शामिल हैं. यह कंधे, जांघ, टखने, वक्ष, गर्दन, फेफड़े और नाभि क्षेत्र को फैलाता है. जिन लोगों का दिल पहले से ही कमजोर है, उन्हें इस व्यायाम को अपने व्यायाम का हिस्सा बनाने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए.

अधोमुख श्वानासन योग

यह एक उलटा आसन है जिसमें आपको शरीर को ऊंचा रखते हुए नीचे की ओर मुंह करना होता है. यह सूर्य नमस्कार का भी एक हिस्सा है. अधो मुख संवासन में हाथ, कंधे, हैमस्ट्रिंग, पिंडली और पैर के आर्च के आसपास की मांसपेशियों में खिंचाव होता है. यह रक्त के प्रवाह में सुधार करता है और शरीर के परिसंचरण तंत्र को मजबूत करता है.

शीर्षासन योग

शीर्षासन को आसनों का राजा भी माना जाता है. इसमें शरीर का पूरा भार सिर और कंधों पर उलटी स्थिति में रहता है. इससे हृदय अधिक रक्त पंप करता है और हृदय गति बढ़ जाती है जो एक स्वस्थ संकेत है, लेकिन जिनके पास पहले से कमजोर दिल है उनके लिए यह जोखिम पैदा करता है.

भुजंगासन योग

भुजंगासन योग मुद्रा में शरीर को ठीक से तानना होता है और मुद्रा शरीर को एक कोबरा की तरह बनाती है. इसमें पेट के बल लेटना होता है और पैरों को एक साथ रखते हुए गहरी सांसें लेते हुए शरीर के ऊपरी हिस्से को ऊपर उठाना होता है. इस योग मुद्रा का पेट पर सीधा प्रभाव पड़ता है और धीरे-धीरे हृदय की कार्यक्षमता में भी सुधार होता है.

पश्चिमोत्तानासन योग

यह एक आरामदेह योग मुद्रा है. इस बैठी हुई योग मुद्रा में व्यक्ति को पैरों को आगे की ओर फैलाना होता है और सिर को पैरों के करीब लाते हुए आगे की ओर झुकना पड़ता है. आसन का उद्देश्य सिर को हृदय से नीचे लाना है. यह रीढ़ को खड़ा करता है और हृदय गति में भी सुधार करता है.

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों को केवल सुझाव के रूप में लें, एबीपी न्यूज़ इनकी पुष्टि नहीं करता है. इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट और सुझाव पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें.

यह भी पढ़ें- How to Store Flour: क्या आटा खराब हो सकता है? आटा स्टोर करने का सही तरीका क्या है आज जान लीजिए

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link