Sundar Pichai Net Worth: गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई की सैलरी जानकर उड़ जाएंगे होश, जानें कितनी संपत्ति के हैं मालिक


नई दिल्ली:गूगल (Google) की मूल कंपनी अल्फाबेट (Alphabet) में नौकरियों में बीते दिनों काफी छंटनी की गई है। नौकरियों में कटौती के बीच कंपनी के सीईओ सुंदर पिचाई (CEO Sundar Pichai) को भारी-भरकम वेतन मिला है। साल 2022 में सुंदर पिचाई (Sundar Pichai Net Worth) को मिले वेतन के बारे में जानकर आप हैरान हो जाएंगे। Alphabet इंक के सीईओ सुंदर पिचाई का वेतन पैकेज साल 2022 के दौरान बढ़कर 22.6 करोड़ डॉलर यानी 1,854 करोड़ रुपये रहा है। यह वेतन (Sundar Pichai Salary) गूगल के समान्य कर्मचारियों की सैलरी से 800 गुना ज्यादा है। गूगल की पैरेंट कंपनी ने ये बढ़ा हुआ वेतन सुंदर पिचाई के काम और नए प्रोडक्ट की लॉन्चिंग पर प्रमोशन के तहत दी है। यूएस सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन (एसईसी) के साथ टेक दिग्गज की फाइलिंग के अनुसार, पिचाई की कमाई में लगभग 218 मिलियन डॉलर के स्टॉक अवार्ड शामिल हैं।

Navbharat Times
आम आदमी जितना पूरी जिंदगी नहीं कमा पाता, उससे ज्यादा है टिम कुक की एक दिन की सैलरी, नेटवर्थ जानकर रह जाएंगे दंग

तीन वर्षों से इतनी थी सैलरी

Google की पैरेंट कंपनी शुक्रवार को फाइलिंग के अनुसार, स्टॉक अवार्ड को छोड़ दिया जाए तो उनका वेतन की पिछले साल 6.3 मिलियन डॉलर थी। वहीं पिछले तीन वर्षों में उनका वेतन 2 मिलियन डॉलर पर था। बता दें कि 20 जनवरी को गूगल के सीईओ ने कर्मचारियों को लिखे एक पत्र में बताया था कि ग्लोबल लेवल पर लगभग 12,000 लोगों की छंटनी की जाएगी, जो कुल वर्कफोर्स का 6 प्रतिशत से ज्यादा है।

Navbharat Timesखुफिया एजेंसी से कम नहीं है ऐपल का हेडक्वॉर्टर, हर कोने पर रखी जाती है बारीक नजर, बनाए गए हैं लॉकडाउन रूम

कंपनी लगातार कर रही कटौती

छंटनी के बीच, तकनीकी दिग्गज गूगल ने अपने मौजूदा कर्मचारियों के लिए मुफ्त स्नैक्स समेत अनेक स्तरों पर कटौत कर रहा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी की रसोई इन दिनों में बंद कर दी गई है। एक इंटरनल मेमो के मुताबिक, कंपनी ने लैपटॉप जैसे पर्सनल इक्विपमेंट पर खर्च भी बंद कर दिया है। टेक दिग्गज गूगल ने भी अपने कर्मचारियों को एक ईमेल के माध्यम से सूचित किया कि पिछले साल की तुलना में इस साल कम कर्मचारियों को प्रमोट किया जाएगा।

बता दें कि गूगल इंडिया ने 400 से ज्यादा कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया और कुछ प्रभावित कर्मचारियों ने अपने दर्द को शेयर करने के लिए लिंक्डइन का सहारा लिया था।

(आईएएनएस इनपुट के साथ)



Source link