मुइज्‍जू की अक्ल अब आएगी ठिकाने! PM मोदी से माफी पर 'अड़ा' विपक्ष


हाइलाइट्स

मालदीव के नए राष्‍ट्रपति मुइज्‍जू भारत विरोधी इलेक्‍शन कैंपेन के दम पर ही सत्‍ता में आए हैं.
भारत के खिलाफ जहर उगलने के बाद अब मालदीव का विपक्ष राष्‍ट्रपति से मांग कर रहा है कि वो पीएम मोदी से माफी मांगे.

नई दिल्‍ली. मालदीव जम्हूरी पार्टी के नेता कासिम इब्राहिम ने राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू से यह मांग की कि वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत के लोगों से औपचारिक रूप से माफी मांगे. मालदीव के डिजिटल समाचार आउटलेट वॉयस ऑफ मालदीव की रिपोर्ट के अनुसार कासिम इब्राहिम ने कहा, “हमें किसी भी देश के बारे में, ख़ासकर किसी पड़ोसी देश के बारे में ऐसी बात नहीं करनी चाहिए जिससे रिश्ते प्रभावित हों. यह हमारे देश के प्रति हमारा दायित्व है, जिस पर अवश्य विचार किया जाना चाहिए. पूर्व राष्ट्रपति सोलिह ने इस दायित्व पर विचार किया और “इंडिया आउट” अभियान पर प्रतिबंध लगाने वाला एक राष्ट्रपति आदेश जारी किया. अब पूर्व राष्‍ट्रपति अब्दुल्ला यामीन सवाल कर रहे हैं कि इंडिया आउट अभियान में उनके साथ भाग लेने वाले मुइज्जू ने तत्‍कालीन राष्ट्रपति के फैसले को रद्द क्यों नहीं किया.”

मालदीव की विपक्षी पार्टी पहले ही राष्‍ट्रपति मुइज्‍जू को पद से हटाने के लिए देश की संसद में उनके खिलाफ महाभियोग ला चुकी है. अब देखना होगा कि उनकी सरकार फ्लोर टेस्‍ट पास कर पाती है या नहीं. कासिम इब्राहिम ने कहा, “डिक्री को रद्द नहीं किया जाना चाहिए, क्योंकि इससे केवल राष्ट्र को नुकसान होगा. ऐसा नहीं किया जा सकता. मैं मुइज्जू से कहूंगा कि ऐसा नहीं करना चाहिए. साथ ही, मैं राष्ट्रपति मुइज्जू से चीन यात्रा के बाद अपनी टिप्पणियों के संबंध में भारत सरकार और प्रधानमंत्री मोदी से औपचारिक रूप से माफी मांगने का आह्वान करता हूं.

यह भी पढ़ें:- जब एक मनोज दूसरे मनोज को…विक्रांत मेसी के जीवन में आया सबसे स्‍पेशल दिन, 12th Fail के असली हीरो से मिले और

मालदीव के राष्‍ट्रपति मुइज्‍जू की अक्ल अब आएगी ठिकाने! PM मोदी से माफी पर 'अड़ा' विपक्ष, क्‍या बचेगी कुर्सी?

“राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा”
पिछले साल की शुरुआत में, मालदीव के तत्कालीन राष्ट्रपति इब्राहिम सोलिह ने एक डिक्री पर हस्ताक्षर किए थे, जिसमें कहा गया था कि विपक्ष का ‘इंडिया आउट’ अभियान “राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा” है. यह सुरक्षा एजेंसियों को अभियान बैनर हटाने की अनुमति देता है और विपक्षी दलों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए संवैधानिक कवर प्रदान करता है. बता दें कि राष्‍ट्रपति बनने के बाद मुइज्‍जू ने मालदीव में मौजूद भारत की सेना को वापस भेजने के लिए भारत से अनुरोध किया है. जिसके बाद से दोनों देशों के बीच टेंशन बढ़ गई है. उनकी सरकार के मंत्री पीएम मोदी के खिलाफ गलत शब्‍दों का प्रयोग भी कर चुके हैं. हालांकि इसके बाद उन मंत्रियों की छुट्टी कर दी गई थी.

Tags: International news, Maldives, Pm narendra modi, World news



Source link