मुइज्‍जू को महंगा पड़ा पीएम मोदी से पंगा, जनवरी में महज इतने भारतीय पहुंचे


हाइलाइट्स

मालदीव के राष्‍ट्रपति मुइज्‍जू भारत विरोधी अभियान के दम पर ही सत्‍ता में आए हैं.
मालदीव टूरिज्‍म की ताजा रिपोर्ट में भारत अब विजिटर्स के मामले में पहले से 5वें स्‍थान पर आ गया है.

नई दिल्‍ली. भारत के साथ पंगा लेना पड़ोसी देश मालदीव को भारी पड़ा. भारत विरोधी अभियान चलाने वाला मालदीव एक महीने पहले तक इंडियंस के लिए सैर सपाटे का फेवरेट डेस्टिनेशन हुआ करता था. मालदीव टूरिज्‍म की ताजा रिपोर्ट के अनुसार तीन सप्‍ताह के डाटा में भारत टूरिज्‍म के मामले में पहले से पांचवें स्‍थान पर आ गया है. भारत के खिलाफ जहर उगलने के बाद बॉयकॉट मालदीव ट्विटर पर ट्रेंड करने लगा. इसी बीच पीएम मोदी ने लक्ष्य दीप टूरिज्‍म को प्रमोट किया तो मालदीव के पड़ोस में स्थित इस आइलैंड पर टूरिस्‍ट की बाढ़ सी आ गई.

मालदीव के पर्यटन मंत्रालय द्वारा जारी आधिकारिक आंकड़ों से पता चला है कि वहां दौरा करने वाले भारतीय यात्रियों की संख्या में उल्लेखनीय गिरावट आई है. आंकड़ों से पता चलता है कि पिछले तीन वर्षों में सालाना 2 लाख से अधिक भारतीयों ने मालदीव का दौरा किया, जो कि कोविड-19 महामारी के बाद किसी भी देश से सबसे अधिक है. अब इस टूरिस्‍ट हॉटस्‍पॉट में कम भारतीय पहुंच रहे हैं.

यह भी पढ़ें:- जब एक मनोज दूसरे मनोज को…विक्रांत मेसी के जीवन में आया सबसे स्‍पेशल दिन, 12th Fail के असली हीरो से मिले और

रूस बना मालदीव टूरिज्‍म का हॉट-स्‍पॉट
आंकड़ों के मुताबिक, इस साल 28 जनवरी तक मालदीव में 1.74 लाख से ज्यादा पर्यटक आए, जिनमें से सिर्फ 13,989 भारतीय थे. मालदीव का दौरा करने वाले देश के 18,561 पर्यटकों के साथ रूस चार्ट में शीर्ष पर है, इसके बाद इटली (18,111), चीन (16,529) और यूके (14,588) हैं. जर्मनी छठे स्थान पर है, उसके बाद संयुक्त राज्य अमेरिका, फ्रांस, पोलैंड और स्विट्जरलैंड हैं. 2023 में 17 लाख से अधिक पर्यटकों ने द्वीप मालदीव का दौरा किया, जिनमें से अधिकतम 2,09,198 भारतीय वहां पहुंचे. इसके बाद रूसी से 2,09,146) और चीनी से 1,87,118 टूरिस्‍ट मालदीव पहुंचे.

मुइज्‍जू को महंगा पड़ा पीएम मोदी से पंगा, 'बदहाल' हुआ मालदीव टूरिज्‍म, जनवरी में महज इतने भारतीय पहुंचे

2018 से मालदीव टूरिज्‍म में नंबर-1 था भारत
मालदीव में भारतीय विजिटर की संख्या 2022 में 2.4 लाख से अधिक और 2021 में 2.11 लाख से अधिक थी. मालदीव भी महामारी के दौरान अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों के लिए खुले कुछ देशों में से एक था और उस अवधि के दौरान लगभग 63,000 भारतीयों ने मालदीव का दौरा किया. 2018 में, 90,474 विजिटर के साथ भारत मालदीव में पर्यटकों के आगमन का पांचवां सबसे बड़ा स्रोत था. 2019 में, 1.66 लाख भारतीयों के साथ भारत दूसरे स्थान पर पहुंच गया. आंकड़ों के अनुसार, मालदीव में इस साल 28 जनवरी तक 1.74 लाख से अधिक पर्यटक आए, जिनमें से केवल 13,989 भारतीय थे. मालदीव का दौरा करने वाले देश के 18,561 पर्यटकों के साथ रूस चार्ट में शीर्ष पर है, इसके बाद इटली (18,111), चीन (16,529) और यूके (14,588) हैं.

Tags: International news, Maldives, Pm narendra modi, World news



Source link