'मैं भी डॉन-तू भी डॉन', गैंगस्टर की दुल्हन बनेगी रिवॉल्वर रानी, अनोखी है प्रेम कहानी – India TV Hindi


interesting love story- India TV Hindi


रिवॉल्वर रानी और गैंगस्टर की प्रेम कहानी

राजस्थान के सीकर जिलें के फतेहपुर की लेडी डॉन अनुराधा एक बार फिर चर्चा मे है। पहलें राजस्थान के कुख्यात गैगस्टर आनंदपाल के कारण चर्चा में रही तो अब  कुख्यात गैंगस्टर संदीप उर्फ काला जठेड़ी से शादी करने को लेकर वह चर्चा में है। 12 मार्च को लेडी डॉन अनुराधा व काला जठेड़ी शादी के पवित्र.बधंन मे बंधने जा रहे हैं। इस लेडी डॉन रिवॉल्वर रानी अनुराधा कैसे जुर्म की दुनिया की बेताज गैॆगस्टर बन गई उसकी यह कहानी काफी दिलचस्प है। 

कैसे लेडी डॉन बनी मिंटू उर्फ अनुराधा 

राजस्थान के सीकर के फतेहपुर के अलफसर गांव मे पीडब्लूडी विभाग मे एईएन के पद से रिटायर हुए राम​देव महला के घर पैदा हुई अनुराधा, जिसका घर का नाम मिंटू है। पिता रामदेव महला पढाई के लिए तीनो बच्चों को लेकर फतेहपुर के चमड़िया कॉलेनी के पास रहने लगे। अनुराधा पढ़ाई में हमेशा से तेज थी इसके लिए चमड़िया स्कूल के बाद सीकर के लक्ष्मणगढ़ के मोदी कॉलेज मे पढने लगी। उसने बीसीए जैसी प्रॉफेशनल डिग्री ली थी। कभी से नॉर्मल जॉब उसका एंबिशन नहीं था।

उसके बाद उसकी शादी फैलिक्स दीपक मिन्ज से हो गई। दोनों पति-पत्नी ने मिलकर सीकर में शेयर ट्रेडिंग का काम शुरू किया। दोनों ने मिलकर लोगों के लाखों रुपए ट्रेडिंग में लगवा दिए। अचानक उसका धंधा चौपट हुआ और दोनों करोड़ों के कर्ज में डूब गए। कर्ज खत्म करने के लिए अनुराधा ने अपराध जगत में पैर रखा उसके बाद वह  इस दलदल मे फंसंती चली गई। यहां तक कि उसने अपने पति को भी छोड़ दिया।

कर्जदारों ने पैसा वापस लौटाने का दबाव बनाया तो अनुराधा हिस्ट्रीशीटर बलबीर बानूड़ा के जरिए कुख्यात अपराधी आनंदपाल सिंह के सम्पर्क में आ गई और पति दीपक मिंज को छोड़कर 2013 में आनंदपाल के गैंग में शामिल हो गई। 

गैंगस्टर को सिखायी अंग्रेजी, बन गई हमराज

कहा जाता है कि अनुराधा ने आनंदपाल के ठेठ पहनावे और उसकी चाल-ढाल, पूरा हुलिया ही बदल डाला था। यहां तक कि उसने गैंगस्टर को अंग्रेजी बोलना भी सिखाया। इसके बदले आनंदपाल ने अनुराधा को AK-47 चलाना सिखाया और अनुराधा लेडी डॉन बन गई। आनंदपाल अनुराधा की हर बात मानता था। पढाई मे हमेशा से होशियार अनुराधा फर्राटेदार अंग्रेजी बोलती है।अनुराधा की चाल ढाल का मार्डन तरीका और मॉर्डन लिबास था। लेडी डॉन अनुराधा और आनंदपाल में नजदीकी बढ़ने लग गई। कुछ ही समय में वह आनंदपाल गैंग की खास मेंबर बन गई और उसने देसी डॉन आनंदपाल को मॉर्डन डॉन बनाना शुरू कर दिया।

लेडी डॉन बन गई रिवॉल्वर रानी

आनंदपाल भी जींस टी-शर्ट, हैट और स्टाइलिश चश्मे में नजर आने लगा। अंग्रेजी में डॉयलोग बोलने लग। जेल से पेशी पर लाने के दौरान डॉन अंग्रेजी में मीडिया में बात करने लगा।  फिर गैंगस्टर आनंदपाल ने अपनी पूरी लाइफ स्टाइल ही बदल डाली लेकिन अनुराधा का सिर्फ इतना-सा काम नहीं था। फिरौती वसूलने की स्टाइल से लेकर गैंग की फाईनेंशियल मैनेजमेंट अनुराधा संभालने लगी। सीकर के एक व्यापारी के अपहरण के मामले में पुलिस ने अनुराधा पर 5 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया था। 27 जून 2006 को बहुचर्चित जीवणराम गोदारा हत्याकांड घटना के मुख्य गवाह प्रमोद चौधरी के भाई इंद्रचंद के अपहरण मामले में भी पुलिस को अनुराधा की तलाश थी।

काला जठेड़ी की बन गई रानी

अनुराधा की जिंदगी तब बदली जब राजस्थाान के अपराधी आंनदपाल का पुलिस ने चुरू जिले के रतनगढ़ में एनकाउंटर कर दिया। साथी आनंदपाल की मौत के बाद मानों अनुराधा अकेली पड़ गई थी। अकेलापन झेल रही अनुराधा के जेल मे रहनें के दौरान सम्पर्क काला जेठड़ी से हुआा। गैंगस्टर काला जठेड़ी के साथ लिव-इन-रिलेशन में रह रही है। जुर्म की दुनिया में उसे रिवॉल्वर रानी के नाम से भी जाना जाता है। अनुराधा के खिलाफ अपहरण और फिरौती के दस मामले दर्ज हैं। आनंदपाल की मौत के बाद लेडी डॉन अनुराधा जब काला जठेड़ी के सम्पर्क मे आई तो रिवॉल्वर रानी सहित अनेक नाम से जानें जानी लगी।





Source link