SSY स्कीम में 3 हजार रुपये जमा करने पर बेटी को कितना मिलता है रिटर्न, जानें  – Times Bull


SSY: सरकार द्वारा चलाई गई सुकन्या समृद्धि योजना ने बेटियों की किस्मत बदल दी है. इस योजना में बेटियों को तगड़ा रिटर्न तो मिल ही रहा है लेकिन साथ ही इस योजना ने बेटियों के भविष्य को खुशहाल बनाने का काम किया है। सरकार इस योजना के माध्यम से देश की सभी बेटियों की किस्मत बदलने का काम कर रही है।

आज देश के लाखों-करोड़ों माता-पिता अपनी बेटियों के नाम पर सरकार की सुकन्या समृद्धि योजना में खाते खुलवा चुके हैं और उसमें निवेश कर रहे हैं ताकि उनकी बेटी का भविष्य संवर सके। लेकिन इस योजना में आप हर महीने कितना पैसा निवेश करेंगे और आपको कितना फायदा होगा, इसकी पूरी जानकारी होना आपके लिए बहुत जरूरी है।

अगर आपने अपनी बेटी के खाते में हर महीने 3,000 रुपये जमा किए हैं तो इस योजना के तहत हम गणना करके बताएंगे कि मैच्योरिटी के समय आपकी बेटी के खाते में कितने पैसे आएंगे ताकि आप स्पष्ट रूप से जान सकें। आप कितना पैसा जमा करेंगे और कितना मिलेगा? अगर हम 3,000 रुपये प्रति माह के निवेश की गणना करें तो इससे आपको पूरा अंदाजा हो जाएगा. आइए देखें कि इस गणना से क्या निकलता है।

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है?

आइए सबसे पहले हम आपको इस योजना के बारे में कुछ जानकारी देते हैं ताकि आप इस योजना के बारे में जान सकें। बेटी बचाओ बेटी पढाई योजना के तहत सरकार द्वारा वर्ष 2025 में सुकन्या समृद्धि योजना शुरू की गई ताकि बेटियों के भविष्य को उज्ज्वल बनाया जा सके।

इस योजना की शुरुआत देश के भावी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने हरियाणा के पानीपत से की थी। इस समय इस योजना की चर्चा पूरी दुनिया में हो रही है और सरकार की इस योजना की काफी सराहना हो रही है. सरकार की इस योजना के जरिए बेटियों के नाम पर खाते खोले जाते हैं और उनके माता-पिता द्वारा इस खाते में निवेश किया जाता है। सरकार निवेश की गई राशि पर बहुत अधिक ब्याज दरों का लाभ भी प्रदान करती है। इस योजना में 15 साल तक निवेश करना होता है और 21 साल के बाद बेटियों को मैच्योरिटी लाभ दिया जाता है।

सुकन्या समृद्धि योजना में ब्याज दर क्या है?

बेटियों के लिए शुरू की गई इस खास योजना में सरकार 8.2 फीसदी ब्याज दर के साथ रिटर्न का लाभ भी दे रही है ताकि बेटियों को ज्यादा से ज्यादा फायदा मिल सके. इस योजना में आपको अपनी बेटी के खाते में हर साल 250 रुपये का निवेश करना आवश्यक है, अन्यथा जिस खाते में निवेश नहीं किया जाता है वह खाता निष्क्रिय कर दिया जाता है। निष्क्रिय खाते को चालू कराने के लिए फिर काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

सरकार ने योजना में अधिकतम निवेश की सीमा भी लगा दी है. इस योजना में आप अपनी बेटी के नाम पर एक साल में अधिकतम 1 लाख 50 हजार रुपये ही निवेश कर सकते हैं. सरकार को इस योजना में इससे अधिक राशि निवेश करने की अनुमति नहीं है।

सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश के नियम

बेटियों का भविष्य उज्जवल करने वाली इस योजना में खाता खुलवाने पर लाभ देने के लिए सरकार द्वारा कुछ नियम बनाए गए हैं ताकि बेटियों को नियमानुसार इस योजना का लाभ दिया जा सके। इस योजना में खाता खोलने के लिए बेटी की अधिकतम आयु 10 वर्ष निर्धारित की गई है।



Source link