किंग चार्ल्स ने ताजपोशी के लिए मुंबई के डब्बेवालों को बुलाया, एक डॉक्यूमेंट्री से बना था यह खास रिश्ता


नई दिल्ली: ब्रिटेन के राजा चार्ल्स तृतीय का राज्याभिषेक छह मई को होगी। इसके लिए तैयारियों जोरों पर हैं। इस खास मौके के लिए लंदन में वेस्टमिंस्टर एबे (Westminster Abbey) को दुल्हन की तरह सजाया गया है। इस आयोजन पर 10 करोड़ पाउंड (करीब 10,23,20,60,300 रुपये) खर्च किए जा रहे हैं। इसके लिए दुनियाभर की कई जानी-मानी हस्तियों को निमंत्रण भेजा गया है। इसमें अमेरिका की फर्स्ट लेडी जिल बाइडेन और भारत के उप राष्ट्रपति जगदीप धनखड़ भी शामिल हैं। लेकिन इन जानी-मानी हस्तियों के बीच कुछ आम लोगों को भी बुलाया गया है। हम बात कर रहे हैं मुंबई के मशहूर डब्बेवालों की। इन डब्बेवालों का मुंबई किंग चार्ल्स से खास रिश्ता रहा है।

एएनआई की एक रिपोर्ट के मुताबिक मुंबई के डिब्बेवालों ने राजा चार्ल्स और उनकी पत्नी कैमिला के लिए कई तोहफे खरीदे हैं। इनमें पुनेरी पगड़ी और वरकारी कम्युनिटी का एक शॉल खरीदा है। इतना ही नहीं उनका शनिवार को आसपास के अस्पतालों में मिठाई बांटने का भी कार्यक्रम है। मुंबई डब्बावाला एसोसिएशन के प्रवक्ता सुभाष तालेदार ने कहा, ‘हम छह मई को आसपास के अस्पतालों में मिठाई बांटेंगे। प्रिंस चार्ल्स की वजह से दुनियाभर में हमारी कम्युनिटी को पहचान मिली। हम उनके आभारी हैं और उनकी ताजपोशी का जश्न मना रहे हैं।’

कैसे बना यह रिश्ता

मुंबई के डब्बावालों को देश का सबसे बेहतरीन डिलीवरी सिस्टम माना जाता है। उनका ब्रिटेन के शाही खानदान से करीब 20 साल पुराना रिश्ता है। प्रिंस चार्ल्स जब 2003 में भारत के दस दिन के दौरे पर आए थे, तब इसकी शुरुआत हुई थी। तब वह प्रिंस ऑफ वेल्स थे और उन्होंने डब्बेवालों पर बीबीसी की एक डॉक्यूमेंट्री देखी थी। मुंबई के डब्बेवालों करीब 2.4 करोड़ लोगों को खाना पहुंचाते हैं। उनके सिस्टम को देखकर प्रिंस चार्ल्स अवाक रह गए थे। इसलिए वह जब नवंबर 2003 में भारत आए तो उन्होंने मुंबई के डब्बेवालों से मिलने का फैसला किया। चार नवंबर, 2003 को प्रिंस चार्ल्स मुंबई के चर्चगेट में सैकड़ों डब्बेवालों से मिले और करीब 20 मिनट तक उनके साथ बातचीत की। इस दौरान उन्हें इस सिस्टम के बारे में जानकारी ली।

दो साल बाद जब 2005 में प्रिंस चार्ल्स ने कैमिला पार्कर बाउल्स से शादी की तो मुंबई में डब्बेवाला कम्युनिटी के दो सदस्यों को इस शादी में बुलाया। इस दौरान उनके आने-जाने और ठहरने का सारा खर्च चार्ल्स ने उठाया। तब उन्हें महारानी एलिजाबेथ ने स्पेशल ब्रेकफास्ट के लिए भी बुलाया था। साथ ही उन्होंने चार्ल्स के बड़े बेटे प्रिंस विलियम और केट मिडलटन की शादी पर नवविवाहित जोड़े को तोहफा दिया था। 2018 में प्रिंस हैरी और मीगन की शादी में मुंबई के डब्बेवालों ने उन्हें पैठानी साड़ी और कुर्ता-पगड़ी भेंट की थी। पिछले साल जब महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का निधन हुआ था तो मुंबई की डब्बावाला कम्युनिटी ने इस पर शोक मनाया था।



Source link