जापान के PM किशिदा से मिले जयशंकर, वैश्विक और रणनीतिक साझेदारी को नया मुकाम – India TV Hindi


विदेश मंत्री एस जयशंकर जापान के पीएम फ्यूमियो किशिदा के साथ। - India TV Hindi

Image Source : PTI
विदेश मंत्री एस जयशंकर जापान के पीएम फ्यूमियो किशिदा के साथ।

टोकियोः भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने शुक्रवार को जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा से मुलाकात की और उन्हें हाल में संपन्न विदेश मंत्रियों की रणनीतिक वार्ता में दोनों देशों द्वारा की गई प्रगति से अवगत कराया। इसके साथ ही उन्होंने भारत और जापान के बीच वैश्विक व रणीतिक साझेदारी को नया मुकाम दिया। बता दें कि जयशंकर 6-8 मार्च तक जापान की यात्रा पर हैं। उन्होंने बृहस्पतिवार को जापान की विदेश मंत्री योको कामिकावा के साथ 16वें भारत-जापान विदेश मंत्री रणनीतिक वार्ता की सह-अध्यक्षता की और पहले रायसीना गोलमेज सम्मेलन में भाग लिया, जो भारत और जापान के बीच ‘ट्रैक टू’ आदान-प्रदान को बढ़ाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

विदेश मंत्री जयशंकर के जापान दौरे का आज आखिरी दिन था। जयशंकर ने ‘एक्स’ पर एक पोस्ट के जरिये कहा, ‘‘टोकियो की अपनी यात्रा के समापन पर जापान के प्रधानमंत्री किशिदा से मुलाकात करके सम्मानित महसूस कर रहा हूं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से उन्हें हार्दिक शुभकामनाएं दीं।’’ जयशंकर ने अपनी पोस्ट में कहा, ‘‘उन्हें विदेश मंत्रियों की रणनीतिक वार्ता में हुई प्रगति से अवगत कराया।

वैश्विक और विशेष रणनीतिक साझेदारी पर फोकस

जयशंकर ने कहा कि हमारी वैश्विक और विशेष रणनीतिक साझेदारी को और मजबूत करने के लिए उनका मार्गदर्शन महत्वपूर्ण है।’’ किशिदा 2021 से जापान के प्रधानमंत्री और लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी (एलडीपी) के अध्यक्ष के रूप में कार्यरत हैं। जयशंकर ने अपनी यात्रा के दौरान देश के पूर्व प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा से भी मुलाकात की, जो अब जापान-भारत एसोसिएशन के अध्यक्ष के रूप में कार्यरत हैं। सुगा (75) ने 2020 से 2021 तक जापान के प्रधानमंत्री और लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी (एलडीपी) के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया। (भाषा)

यह भी पढ़ें

तीन दिनों के मॉरीशस के दौरे पर जाएंगी राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू , जानें क्या है पूरा कार्यक्रम

नेपाल की सरकार बदलने पर भी पड़ोसी के प्रति कभी नहीं बदलेगा भारत का सद्भाव, भारतीय राजदूत ने जानें क्यों कही ये बात

Latest World News





Source link