Indian Navy Agniveers: देश सेवा में समर्पित होंगी 273 बेटियां, 28 मार्च की पासिंग आउट परेड में 2600 अग्निवीर


भारतीय नौसेना में अग्निवीरों का पहला बैच तैयार होने वाला है। 28 मार्च को पासिंग आउट परेड में 2600 अग्निवीरों की ट्रेनिंग पूरी हो जाएगी। पहले बैच में 273 महिला नौसेना अधिकारी हैं।

India

oi-Jyoti Bhaskar

Z

Google Oneindia News
loading
Indian Navy Agniveers

Indian
Navy
Agniveers
देश
सेवा
में
समर्पित
होने
को
तैयार
हैं।
INS
Chilka
में
पास
आउट
परेड
28
मार्च
को
होना
है।
एक
रिपोर्ट
के
अनुसार
नौसेना
के
अग्निवीरों
का
पहला
जत्था
28
मार्च
को
आईएनएस
चिल्का
से
निकलेगा।
परेड
के
साथ
273
महिला
अग्निवीरों
सहित
लगभग
2,600
अग्निवीरों
का
प्रशिक्षण
पूरा
हो
जाएगा।
नौसेनाध्यक्ष
पासिंग
आउट
परेड
के
मुख्य
अतिथि
और
समीक्षा
अधिकारी
होंगे।

स्कीम
बनने
के
9
महीने
बाद
पहला
बैच
तैयार

पासिंग
आउट
परेड
में
वाइस
एडमिरल
एमए
हम्पीहोली
समेत
शीर्ष
सैन्य
अधिकारी
और
अग्निवीरों
के
अभिभावक
मौजूद
रहेंगे।
सफल
प्रशिक्षुओं
को
उनके
समुद्री
प्रशिक्षण
के
लिए
सीमावर्ती
युद्धपोतों
पर
तैनात
किया
जाएगा।
बता
दें
कि
करीब
10
महीने
पहले
14
जून,
2022
को
रक्षा
मंत्री
और
तीनों
सेना
प्रमुखों
ने
अग्निपथ
योजना
की
शुरुआत
की
थी।

Recommended
Video

INS
Vagir
Commissioned:
Indian
Navy
में
घातक
INS
वागीर
शामिल,
थर्रा
जाएंगे
दुश्मन
|
वनइंडिया
हिंदी

16
सप्ताह
की
कठिन
ट्रेनिंग

नौसेना
ने
महिला
अग्निवीरों
के
प्रवेश
को
शुरू
करने
के
लिए
इस
अवसर
का
लाभ
उठाया।
273
महिला
अग्निवीरों
सहित
करीब
2600
अग्निवीरों
को
नवंबर
2022
से
आईएनएस
चिल्का
में
प्रशिक्षण
दिया
जा
रहा
है।
भारतीय
नौसेना
में
शामिल
होने
वाले
ये
युवा
सैनिक
16
सप्ताह
की
ट्रेनिंग
के
बाद
चैलेंजिंग
रोल
में
देश
सेवा
के
प्रति
समर्पित
हो
जाएंगे।

जब
कर्तव्य
पथ
पर
दिखे
भारत
के
अग्निवीर

समुद्री
योद्धा
बनने
जा
रहे
नौसेना
के
अग्निवीर
भारतीय
नौसेना
के
प्रमुख
प्रशिक्षण
प्रतिष्ठान
आईएनएस
चिल्का
में
ट्रेनिंग
के
दौरान
26
जनवरी
की
ऐतिहासिक
परेड
का
हिस्सा
भी
बने।
भारतीय
नौसेना
की
टुकड़ी
में
शामिल
अग्निवीरों
ने
कर्तव्य
पथ
पर
राष्ट्रपति
द्रौपदी
मुर्मू
और
पूरी
दुनिया
के
सामने
भारतीय
युवाओं
का
जज्बा
दिखाया।

पहली
बार
सूर्यास्त
के
बाद
पासिंग
आउट
परेड

पासिंग
आउट
परेड

केवल
अग्निवीरों
(प्रशिक्षुओं)
के
लिए
बल्कि
उनके
परिवारों
के
लिए
भी
गर्व
का
क्षण
होता
है।
खास
बात
ये
कि
अग्निवीर
स्कीम
की
शुरुआत
के
बाद
से
ये
किसी
भी
प्रशिक्षण
संस्थान
से
अग्निवीरों
का
पहला
पासिंग
आउट
परेड
है।
सशस्त्र
बलों
की
यूनिट्स
में
परंपरागत
रूप
से,
पासिंग
आउट
परेड
सुबह
आयोजित
किए
जाते
हैं।
हालांकि,
इस
मायने
में
भी
ये
ऐतिहासिक
परेड
बनने
वाली
है,
क्योंकि
पहली
बार
सूर्यास्त
के
बाद
परेड
का
आयोजन
होगा,
जो
भारतीय
सशस्त्र
बलों
में
अपनी
तरह
का
पहला
मौका
है।

CDS
जनरल
रावत
की
बेटियां
अग्निवीरों
को
सम्मानित
करेंगी

परेड
के
दौरान
अग्निवीरों
को
विभिन्न
श्रेणियों
में
पुरस्कार
भी
मिलेगा।
देश
के
पहले
चीफ
ऑफ
डिफेंस
स्टाफ
(CDS),
दिवंगत
जनरल
बिपिन
रावत
की
स्मृति
में
भारतीय
नौसेना
ने
‘योग्यता
के
समग्र
क्रम
में
प्रथम
महिला
अग्निवीर
प्रशिक्षु’
के
लिए
जनरल
बिपिन
रावत
रोलिंग
ट्रॉफी
दिए
जाने
की
शुरुआत
होगी।
यह
ट्रॉफी
योग्य
महिला
अग्निवीर
को
जनरल
रावत
की
बेटियों
द्वारा
भेंट
की
जाएगी।

ओलंपिक
संघ
की
अध्यक्ष
और
क्रिकेटर
बेटी
की
मौजूदगी

अग्निवीरों
को
प्रेरित
करने
के
लिए,
पहली
बार
पासिंग
आउट
परेड
में
प्रतिष्ठित
अनुभवी
नाविक
भी
भाग
लेंगे।
इन्होंने
अपनी
सेवा
के
साथ-साथ
सेवानिवृत्ति
के
बाद
वाले
करियर
में
भी
उत्कृष्ट
प्रदर्शन
किया
है।
इसके
अलावा
राज्यसभा
सदस्य
और
पद्म
श्री
पुरस्कार
से
सम्मानित
पीटी
उषा
भी
परेड
की
साक्षी
बनेंगी।
उषा
भारतीय
ओलंपिक
संघ
की
अध्यक्ष
भी
हैं।
पद्म
श्री,
अर्जुन
पुरस्कार
और
मेजर
ध्यानचंद
खेल
रत्न
पुरस्कार
प्राप्त
करने
वाली
मिताली
राज
भी
मौजूद
रहेंगी।

कहां
देख
सकेंगे
सीधा
प्रसारण

इस
ऐतिहासिक
और
कई
मायनों
में
पहली
घटनाओं
वाले
पासिंग
आउट
परेड
की
लाइव
स्ट्रीमिंग
28
मार्च
को
शाम
1730
बजे
से
होगी।
भारतीय
नौसेना
के
यूट्यूब
चैनल
और
इंस्टाग्राम
पेज
के
साथ-साथ
दूरदर्शन
पर
सीधा
प्रसारण
किया
जाएगा।


ये
भी
पढ़ें-
Rahul
Gandhi
Angry
‘यंग
मैन
अवतार’
में
दिखे!
सवाल
पूछने
पर
कहा-
पत्रकार
होने
का
दिखावा

करें,
हवा
निकल
गई?
VIDEO

  • loading
    आत्मनिर्भर भारत: स्वदेशी बूस्टर के साथ INS कोलकाता से दागी गई ब्रह्मोस मिसाइल, टारगेट तबाह
  • loading
    हिंद महासागर की चीन से सुरक्षा के लिए Navy तैयार, Raisina Dialogue में बोले नौसेना प्रमुख
  • loading
    Aircraft Carrier: एयरक्राफ्ट कैरियर पर कैसे उतरते और रुकते हैं तेज रफ्तार लड़ाकू विमान?
  • loading
    Gaganyaan Mission: गगनयान की समुद्र में लैंडिग के बाद कैसे होगी रिकवरी? इसरो ने नेवी के संग मिल कर की टेस्टिंग
  • loading
    Proud Moment: भारत में बने लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट ने स्वदेशी INS विक्रांत पर की सफल लैंडिंग
  • loading
    Indian Navy में निकली भर्ती, बिना परीक्षा के होगा चयन, ऐसे करें आवेदन
  • loading
    भारतीय नौसेना में कलवारी क्लास सबमरीन INS वागीर होगी शामिल, 5 प्वाइंट में समझें इसकी खासियत
  • loading
    Republic Day : कर्तव्य पथ पर मिस्र के मेहमान की मेजबानी, 74वें गणतंत्र दिवस पर मुख्य आकर्षण क्या होगा ? जानिए
  • loading
    PM मोदी ने अग्निवीरों के पहले बैच को किया संबोधित, अग्निपथ योजना को बताया गेम चेंजर
  • loading
    कैंसर से लड़ रहे हैं पिता, बेटी बनी छत्तीसगढ़ की पहली महिला अग्निवीर, दुर्ग की हिषा बघेल का Indian Navy में चयन
  • loading
    क़तर में क़ैद से कब छूटेंगे रिटायर्ड भारतीय नौसेना अधिकारी, मोदी सरकार की चुप्पी पर सवाल
  • loading
    पूजा कंवर राठौड़ इंडियन नेवी में लेफ्टिनेंट बनकर लौटी तो उसे घोड़ी पर बैठाकर पूरा गांव जमकर नाचा

English summary

Indian Navy Agniveer ins chilka pass out parade on March 28



Source link