आम लोगों को लगा बड़ा झटका, जून में इतना होगा बिजली की कीमत में इजाफा, पढ़े डिटेल – Times Bull


अभी जॉइन करें Telegram ग्रुप

नई दिल्ली Electricity Price Hike: बिजली उपभोक्ताओं के लिए काफी बड़ी खबर है। ऐसा कहा जा रहा है कि उत्तर प्रदेश विद्युत नियामक आयोग (UPERC) जून के पहले हफ्ते तक सोशोधन की गई बिजली की दरों की घोषणा कर सकती है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक UPPCL के द्वारा पेश किए गए नए बिजली टैरिफ ने ग्राहकों की कई श्रेणियों के लिए 23 फीसदी तक के इजाफे का ऐलान किया है। जिसमें शहरी ग्राहकों के लिए निगम ने लगभग 18 फीसकी का इजाफे के बारे में कहा गया है। इससे पहले आयोग ने 2018-2019 से बिजली की दरों में संशोधऩ किया था।

इसे भी पढ़ें- बिना किसी इन्वेस्टमेंट के मिल रही है गैस एजेंसी, जल्दी करें मौका अच्छा है!

अभी जॉइन करें Telegram ग्रुप

शानदार Hero HF Deluxe मिल रही है मात्र 16 हजार रुपे में, दमदार इंजन के साथ देती है गजब का माइलेज

Free Mobile government scheme: डिजिटल इंडिया के तहत आ गई नई योजना , अब मिलेगा सभी महिलाओं को फ्री स्माटफोन

28 अप्रैल को हुई थी इसकी सुनवाई

आपको बता दें कि UPERC के द्वारा सभी बिजली वितरण कंपनियों में जन सुनवाई पूरी कर ली है। पिछले सुनवाई 28 अप्रैल को नोएडा में हुई थी। सूत्रों ने कहा कि आयोग अब कई डिस्कॉम को उनकी फीडबैक लेने के लिए सार्वजनिक ऑब्जैक्शन की एक रिपोर्ट भेजेगा। इसके बाद औपचारिक रुप से टैरिफ की घोषणा करने से बिजली उपभओक्ताओं की सभी टिप्पणियों को ध्यान में रखते हुए आयोग टैरिफ के बारे में एनालिसिसि करेगी।

इसे भी पढ़ें- Kate Sharma ने शर्ट और पैंट का बटन खोल दिखाई बेशर्मी

लग सकता है 1 महीने तक का समय

वहीं एक अधिकारी ने कहा कि इससे 1 महीने पहले का समय लगने की संभावना है। आयोग के मुताबिक जून से पहले सप्ताह तक टैरिफ का ऐलान हो सकेगा। सूत्रों के मुताबिक UPPCL ने बिजली उत्पादन में बढ़ती लागत के बारे में कहा है कि यहां पर उपयोग पर होने वाला कोयलें की कीमत काफई बढ़ गई है। UPPCL ने न सिर्फ बिजली के यूनिट में चार्ज में इजाफा करने का प्रस्ताव रखा है बल्कि फिक्स चार्ज को भी 10 से बढ़ाकर 15 प्रतिशत कर दिया है।

इसे भी पढ़ें- Haryanvi Dancer Rachna Tiwari ने हिलाया ऐसे बदन कि भीड़ हुई बेकाबू, खूब बरसे नोट

वहीं यूपी के विद्युत उपभोग परिषद के अध्यक्ष अवधेश वर्मा, जो कि बजली की दरों के मामलों में पिटीशन में से एक हैं उन्होंने कहा कि एसोसिएशन ने सभी सुनवाई में पूरी तरह से हिस्सा लिया है और कहा है कि UPPCL को उपभोक्ताओं के 25,000 करोड़ रुपये से ज्यादा के मुद्दे को हल करने की आवश्यकता है।



Source link