फैट के कारण नहीं लेते प्रोटीन डाइट तो हो जाएं सावधान… बढ़ सकता है इन बीमारियों का खतरा


Protein Deficiency: इस समय में कई लोग प्रोटीन की कमी से जूझ रहे हैं, जिससे मांसपेशियों में कमजोरी आना, इम्यून सिस्टम कमजोर होना और यहां तक की शरीर का विकास भी रुक जाता है. ऐसे में प्रोटीन की कमी से बचने के लिए रिच डाइट लेने की बात कही जाती है, लेकिन अक्सर लोग फैट्स के चलते प्रोटीन का सेवन कम करते हैं, जो मसल्स वीकनेस के अलावा कई बीमारियों को न्योता देता है. ऐसे में आज हम आपको बताते हैं पांच ऐसी बीमारियों के बारे में जो प्रोटीन की कमी से हो सकती है.

 

क्वाशियोरकोर

क्वाशियोरकोर एक ऐसी बीमारी है जो प्रोटीन की कमी से होती है. इससे शरीर का विकास कम हो जाता है, पैरों में, पेट में सूजन आने लगती है, बाल पतले होने लगते हैं और त्वचा की रंगत भी कम होने लगती है.

 

मरास्मस

मरास्मस कुपोषण का दूसरा रूप है, जिसमें कैलोरी और प्रोटीन दोनों की कमी शरीर में होती है. इससे तेजी से वजन घटता है, मांसपेशियां कमजोर होती हैं और विकास रुक जाता है, साथ ही इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है और संक्रमण का खतरा भी बढ़ जाता है.

 

एडिमा

प्रोटीन की कमी से एडिमा हो सकता है, खासकर हाथ-पैर और पेट में. यह ऑनकोटिक दबाव में कमी के कारण होता है, जो आमतौर पर ब्लड वेसल्स के अंदर तरल पदार्थ को बनाए रखने में मदद करता है.

 

घाव का देर से भरना

शरीर में ऊतकों की मरम्मत और घाव भरने के लिए प्रोटीन बहुत जरूरी होता है. अपर्याप्त प्रोटीन का सेवन शरीर की घावों को ठीक करने की क्षमता को कम कर सकता है.

 

कमजोरी और थकान

प्रोटीन की कमी से मांसपेशियों में कमजोरी, थकान और शरीर की एनर्जी कम हो सकती है, क्योंकि मांसपेशियां मरम्मत और रखरखाव के लिए प्रोटीन पर निर्भर होती हैं.

 

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link