Anupamaa 8 March: अनुज ने तोषू को दी लॉकर की चाबी, बेटे के चक्कर में फिर बुरी फंस जाएगी अनुपमा


एपिसोड की शुरुआत होती है अनुपमा से जो वनराज और बा को तोषू की सच्चाई बताते हैं। तभी अनुपमा के पैसे मिल जाते हैं और तोषू फिर अनुपमा को सुनाता है। किंजल, वनराज से कहती है कि तोषू ने यहां आकर बहुत मुश्किलें खड़ी की है। किंजल बताती है कि अनुपमा ने उसकी बहुत मदद की है। वो ना होती तो यहां रहना मुश्किल हो गया था। वनराज फिर तोषू पर चिल्लाता है। तोषू वहीं इमोशनल ड्रामा करता है कि मैं इंडिया में अच्छा बेटा नहीं बन पाया और यहां अच्छा पापा नहीं बन पाया।

तोषू ने खाई अनुपमा की कसम

तोषू फिर अनुपमा की कसम खाता है कि मैं आज के बाद कोई भी गलत काम नहीं करूंगा। अनुपमा कहती है कि देख वादा किया है तो उसे करके दिखाना। जो हुआ वो हो गया। उसे भूल जाओ। बस आगे बढ़ो।

वहीं बाबू जी, पाखी को पूछते हैं कि कहां गई थी तो पाखी उन्हें उल्टा जवाब देती है। इस पर काव्या उसे सुना देती है। वहीं डिंपी और काव्या डिस्कस करते हैं कि पाखी, अधिक को गलत प्रूव करने के लिए कोई सबूत इकट्ठे कर रही है।

अनुज-अनुपमा के प्यारे मोमेंट

इवेंट में अनुज और अनुपमा एक-दूसरे से मिलते हैं। अनुपमा पूछती हैं कि आप ठीक हैं? इस पर अनुज कहता है कि नहीं। अनुपमा कहती है कि भगवान करें आज का इवेंट हम सबकी उम्मीदों से ज्यादा अच्छा हो। अनुज फिर वहां ऑल द बेस्ट का टैग छोड़कर चला जाता है। अनुपमा इस टैग को हाथ में बांध लेती है तभी यशदीप वहां आ जाता है। अब इवेंट में बा और वनराज भी पहुंच जाते हैं। अनुपमा परेशान हो जाती है कि कहीं वनराज और अनुज का आमना-सामना ना हो जाए। यशदीप कहता है कि इवेंट इतना बड़ा है तो हो सकता है कि दोनों ना मिलें।

अनुज ने तोषू को दी लॉकर की जिम्मेदारी

वहीं अनुज, लॉकर की डिटेल्स तोषू को देता है और उसका कार्ड भी। अनुज कहता है कि तोषू पूरा ध्यान रखना की कोई गलती ना हो। यह इवेंट उसके और उसकी कंपनी के लिए बहुत जरूरी है। वहीं तोषू को तभी गुंडो का मैसेज आता है पैसे मांगने का। अब कहीं तोषू गुंडो के चक्कर में कोई गलती ना कर दे।



Source link