सैलरी काटी और करवाया दोगुना काम, Mastercard का ये शोषण देखकर चौंक गई दुनिया


Mastercard's NFT Product Lead Resigns- India TV Paisa
Photo:FILE Mastercard’s NFT Product Lead Resigns

Mastercard’s NFT Product Lead Resigns: अक्सर हम मानते हैं कि दुनिया की बड़ी कंपनी में नौकरी करने वालों की ऐश ही ऐश होती है, लेकिन दुनिया की सबसे बड़ी पेमेंट कंपनी मास्टरकार्ड में टॉप पोजीशन पर काम करने वाले भारतीय मूल के सात्विक सेठी ने कंपनी पर जो आरोप लगाए हैं वह वाकई में चौंकाने वाले हैं। सात्विक ने गुरुवार 2 फरवरी को मास्टरकार्ड पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए इस्तीफा दे दिया है। मजेदार बात यह है कि सात्विक सेठी ने अपना इस्तीफा उसी NFT यानि नॉन फंजीबल टोकन के रूप में दिया है, जिसके वे प्रमुख हुआ करते थे। 

2020 में इंग्लैंड की बर्मिंघम यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट अभी तक मास्टर कार्ड के NFT प्रोडक्ट के हेड थे। वे कई बड़े प्रोजेक्ट पर भी काम कर चुके थे। लेकिन कंपनी द्वारा उनके साथ किए गए व्यवहार से परेशान होकर आखिरकार सेठी ने कंपनी से इस्तीफा दे दिया है। सेठी ने ट्विटर पर कंपनी को लिए अपने लंबे त्यागपत्र की कॉपी ट्विटर पर भी शेयर की है। सेठी ने लिखा कि मैंने मास्टरकार्ड से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा कि, पिछले एक साल से, उन्होंने कंपनी में एनएफटी उत्पाद लीड के रूप में काम किया था, जहां उन्होंने “मास्टरकार्ड के लिए वेब3 का नेतृत्व किया, इसमें हमारी रीजनल टीमों के साथ-साथ हमारे सभी फॉर्च्यून 500 ग्राहक और भागीदार भी शामिल हैं।

लिखी शोषण की पूरी दास्तान

ट्विटर पर सेठी ने बताया कि इतनी बड़ी कंपनी के लिए काम करने के बावजूद सेठी को काफी संघर्षों का सामना करना पड़ा। सेठी ने बताया कि न्यूयॉर्क से लंदन ट्रांसफर किए जाने के बाद कुछ वीजा समस्या के कारण, उनका वेतन 40% कम हो गया था। वहीं मेरे काम का बोझ 200% बढ़ गया था। हालत इतनी खराब थी कि गुज़ारा करने के लिए साइड जॉब करने के लिए मजबूर होना पड़ा। आज इस बात का अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि इतने बड़े पद पर रहने के बावजूद उन्हें एक के बाद एक किराये के घरों में रहना पड़ा। 

ये बैंक देते हैं सेविंग अकाउंट पर FD से ज्‍यादा ब्‍याज, यहां पैसा रखना है फायदे का सौदा

इन 5 कंडीशन पर बैंक नहीं देता लोन, जानिए कहीं आप तो नहीं कर रहे ये गलती

लगाया उत्पीड़न का आरोप 

सेठी ने दावा किया कि, मास्टरकार्ड में, मैं कुप्रबंधित प्रक्रियाओं, गलत संचार, आंतरिक अक्षमता की एक श्रृंखला के कारण उत्पीड़न और भावनात्मक संकट का शिकार था। ऐसे कई महीने थे कि जब तक मैं वेतन की भीख न मांगू तब तक मुझे अपना वेतन तक नहीं मिलता था। इसेक अलावा कई और भी समस्याएं मेरे सामने खड़ी की गईं जिसके बाद उन्हें अंतत: इस्तीफा देना पड़ा है। 

भारत लौटना ही आखिरी विकल्प 

सात्विक भविष्य की योजनाओं के बारे में बताते हैं कि जब तक अच्छी जॉब नहीं मिल जाती, तब तक वह कुछ समय के लिए भारत में रहेंगे। नौकरी जाने के बाद उनका यूके का वर्क वीजा भी खत्म हो गया है, ऐसे में वह अब यूके में नहीं रह सकते हैं। 

एनएफटी पर छापा इस्तीफा 

सेठी ने डिजिटल कलेक्टिबल्स प्रोटोकॉल मैनिफोल्ड के माध्यम से एथेरियम पर एक ओपन-एडिशन एनएफटी के रूप में अपना इस्तीफा पत्र छापने का फैसला किया। इस प्रोजेक्ट को “नई शुरुआत” कहा जाता है। इसकी कीमत ETH 0,023 है।

Latest Business News





Source link