हिंडनबर्ग की आंधी नहीं हिला पाई अडानी के इस शेयर को, बाकियों की तो हालत खराब


नई दिल्ली: गौतम अडानी (Gautam Adani) के लिए साल 2023 अच्छा नहीं रहा है। 24 जनवरी को अमेरिकी रिसर्च फर्म हिंडनबर्ग (Hindenburg) ने अडानी समूह के खिलाफ गंभीर आरोप लगाते हुए 109 पन्नों की अपनी रिपोर्ट जारी की। इस रिपोर्ट के बाद अडानी समूह के शेयर ताश के पत्तों की तरह बिखरने लगे। अडानी समूह (Adani Group) को तगड़ा झटका लगा। गौतम अडानी दुनियाभर के अमीरों की लिस्ट में तीसरे नंबर से फिसलकर 35वें नंबर के पार हो गए। अडानी समूह को लेकर ताजा रिपोर्ट भी झटका देने वाली है। हिंडनवर्ग की रिपोर्ट के दो महीने बीत जाने के बाद भी अडानी समूह के अधिकांश शेयर गिरावट में है। शुक्रवार को अडानी समूह के 10 में से 7 शेयरों में गिरावट दर्ज की गई। हालांकि शेयरों में उतार-चढ़ाव की स्थिति बनी हुई है। अगर अप्रैल 2022 से शुरू हुई चालू वित्तीय वर्ष की बात करें तो अडानी समूह को बड़ा झटका लगा चुका है।


अडानी को बड़ा झटका

मौजूदा चालू वित्त वर्ष में अडानी समूह के शेयरों में गिरावट देखने को मिली है। अडानी टोटल गैस (Adani Total Gas) और अडानी ट्रांसमिशन (Adani Transmission) के शेयर 54 फीसदी से अधिक गिर चुके हैं। अडानी ग्रीन 49 फीसदी तक लुढ़क चुका है। अडानी की फ्लैगशिप कंपनी अडानी एंटरप्राइजेज का हाल भी बेहाल है। इसके शेयर 11 फीसदी गिर चुके है। चालू वित्त वर्ष में अडानी पोर्ट के शेयर 15 फीसदी तक नीचे गिर चुके हैं। वहीं अडानी विल्मर 19 फीसदी तक गिर चुका है।

अडानी के इस शेयर में बस तेजी

अडानी समूह की 10 कंपनियां शेयर बाजार में लिस्टेड है। हिंडनबर्ग के खुलासे के बाद अडानी समूह की 9 कंपनियों के शेयर्स की हालात खराब हो गई। ऊपर के आंकड़ों से आपने अंदाजा लगा लिया होगा कि हिंडनबर्ग ने अडानी के शेयरों का कितना कत्लेआम किया है। लेकिन अमेरिकी शॉर्ट सेलर के हमले को अगर कोई झेल पाया है तो वो है अडानी पावर (Adani Power)। चालू वित्त वर्ष में अडानी पावर समूह का एकलौता शेयर है, जिसमें तेजी दर्ज की है। अडानी पावर के शेयरों में हिंडनबर्ग के आरोपों के बावजूद रिकवरी देखने को मिली। अडानी पावर के शेयरों में चालू वित्त वर्ष में तेजी आई। जो शेयर 31 मार्च 2022 को 185.05 रुपये का था 24 मार्च 2023 को बढ़कर 192. 60 रुपये पर बंद हुआ है।

अडानी को कितने का झटका

अडानी के शेयरों में गिरावट के कारण कंपनी के कुल मार्केट में 4.50 लाख करोड़ रुपये का झटका अब तक लग चुका है। अडानी समूह की 9 कंपनियों के शेयर लगातार गिर रहे है। FY23 की बात करें तो 31 मार्च 2022 को अडानी का कुल मार्केट कैप 13.20 लाख करोड़ रुपये था। 24 मार्च 2023 को ये गिरकर 8.63 लाख करोड़ रुपये पर बंद हुआ था। यानी अडानी समूह को 4.50 लाख करोड़ रुपये का झटका लग चुका है।

Navbharat Times

Adani Shares: मंगलमय रहा मंगलवार, एक खबर और रॉकेट बन गए अडानी के शेयर, जबरदस्त कमबैक से निवेशक मालामाल



Source link