पुतिन के कट्टर विरोधी एलेक्सी नवलनी की मौत, 2020 में जहर के हमले से बचे थे


मॉस्को. रूसी जेल सेवा ने कहा कि रूसी विपक्षी नेता एलेक्सी नवलनी की शुक्रवार को एक जेल में गिरने और बेहोश होने के बाद मौत हो गई. जहां वह अपनी लंबी जेल की सजा काट रहे थे. एलेक्सी नवलनी 2020 में एक जहर के हमले से बच गए थे और बाद में उन्होंने व्लादिमीर पुतिन पर इसके पीछे होने का आरोप लगाया था. एलेक्सी नवलनी के बारे में 5 बड़ी बातें:

47 साल के एलेक्सी नवलनी पहले एक वकील रहे थे, जो एक दशक से भी अधिक समय पहले व्लादिमीर पुतिन के साथ जुड़े अमीर वर्ग की आलोचना और व्यापक भ्रष्टाचार के आरोप लगाने के लिए प्रमुखता से उभरे थे. उनको रूस के आर्कटिक सर्कल के उत्तर में लगभग 60 किमी. (40 मील) की दूरी पर एक जेल में भेजा गया था.

व्लादिमीर पुतिन के सबसे मशहूर प्रतिद्वंद्वी एलेक्सी नवलनी को 74 साल की उम्र तक जेल में रहने की सजा सुनाई गई थी.

20 अगस्त, 2020 को एलेक्सी नवलनी को साइबेरिया में अस्पताल में भर्ती कराया गया और एक उड़ान के दौरान बेहोश होने के बाद कोमा में रखा गया. बाद में जांच से पता चला कि उन्हें सोवियत काल के नर्व एजेंट से जहर दिया गया था.

एलेक्सी नवलनी के जर्मनी से 2021 में स्वेच्छा से रूस लौटने पर विभाजित रूसी विपक्ष ने उनकी प्रशंसा की, जहां उनका जहर का इलाज हुआ था.

वापस लौटने पर एलेक्सी नवलनी को जेल में डाल दिया गया. रूस ने नवलनी के उन दावों का खंडन किया है कि रूस की गुप्त पुलिस ने उन्हें नोविचोक जहर दिया था.

.



Source link