इंडोनेशिया से सिंगापुर निर्यात किए गए सुअर, अफ्रीकन स्वाइन फीवर वायरस होने से मचा कोहराम, जानें क्यों है खतरनाक?


जकार्ता: इंडोनेशिया से सिंगापुर निर्यात किए गए सुअरों में अफ्रीकन स्वाइन वायरस (ASF) मिलने से हड़कंप मच गया गया है. इंडोनेशियाई अधिकारियों ने मंगलवार को पुष्टि करते हुए बताया कि रियाउ द्वीप प्रांत में पुलाब बुलान फार्म से लिए गए नमूनों से वायरस होने का लक्षण मिला है. सिंगापुर को कुल पोर्क की लगभग 15% आपूर्ति इस इस द्वीप से होती है. रिआउ द्वीप के पशु अधिकारी होनिसमांद्री ने खुलासा किया कि ये सुअर नए वायरस के स्ट्रेन से संक्रमित हैं, क्योंकि इनके लक्षण उत्तरी सुमात्रा और इंडोनेशिया के अन्य भाग में सुअरों में वायरस इन्फेक्शन से अलग पाए गए थे. 

कैसे फैला संक्रमण?
द स्ट्रेट्स टाइम्स ने होनिसमांद्री के हवाले से बताया, ‘इन्हें (सुअरों) को न डाइरिया या फिर रक्तस्राव नहीं (हो रहा) है. ये अन्य द्वीप के प्रवसि जंगली सुअरों या कौवों से संक्रमित हुए होंगे.’ होनिसमांद्री ने आगे बताया कि फार्म को बंद कर दिया गया है और इस द्वीप से जाने वाले फ्रेश पोर्क और सुअरों के शिपमेंट को फिलहाल रोक दिया गया है. विशेष रूप से, सिंगापुर खाद्य एजेंसी (SFA) ने पिछले महीने द्वीप से सुअरों के आयात को पहले ही रोक दिया था.

सिंगापुर आयात और आपूर्ति पर लगाई रोक
सिंगापुर खाद्य एजेंसी (SFA) ने फ़िलहाल फ्रेश कटे हुए पोर्क की आपूर्ति पर रोक लगते हुए कहा वर्तमान स्थिति को  देखते हुए, 23 अप्रैल से आगे तक आपूर्ति बाधित रह सकती है. एसएफए बूचड़खाने के साथ मिलकर सफाई और संक्रमण रहित बनाने के लिए तेजी से काम कर रहा है.  

क्या है अफ्रीकन स्वाइन फीवर?
अफ्रीकी स्वाइन फीवर (एएसएफ) सूअरों में अत्यधिक विषाणुजनित और संक्रामक रोग है. इससे संक्रमित सुअरों की मृत्यु दर 100% तक पहुंच जाती है. हालांकि, इस  वायरस से इंसान संक्रमित नहीं होते हैं. वर्ल्ड ऑर्गनाइजेशन फॉर एनिमल हेल्थ (WOAH) ने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि ASF हाल के वर्षों में धीरे-धीरे पोर्क मार्केट के लिए संकट बनते जा रहा है. यह न केवल पशु के स्वास्थ्य को प्रभावित करता है बल्कि जैव विविधता पर भी हानिकारक प्रभाव डालता है. अभी इस रोग के लिए कोई प्रभावी टीका भी नहीं मिला है. 

ये भी पढ़ें-‘शराब घोटाले में ED ने मानी गलती…’ संजय सिंह के दावे पर एजेंसी का जवाब- नोटिस वापस लें और बयानबाजी न करें

यह रोग घरेलू और जंगली दोनों सुअरों को प्रभावित करते हुए एशिया, कैरिबियन, यूरोप और प्रशांत क्षेत्र के कई देशों में पहुंच चुका है.

Tags: Indonesia News, Pig, Singapore



Source link