महाराष्ट्र CM बोले- मैं पिता-पति के रूप में फेल हुआ: शिंदे के बेटे ने कहा था- इनके पास हमारे लिए कभी समय नहीं था


मुंबई17 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
एकनाथ शिंदे के बेटे श्रीकांत ने एक कार्यक्रम में अपने पिता की राजनीतिक व्यस्तता पर बात की थी। इस दौरान CM शिंदे भी वहीं मौजूद थे। - Dainik Bhaskar

एकनाथ शिंदे के बेटे श्रीकांत ने एक कार्यक्रम में अपने पिता की राजनीतिक व्यस्तता पर बात की थी। इस दौरान CM शिंदे भी वहीं मौजूद थे।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने शनिवार (17 फरवरी) को कोल्हापुर में शिवसेना के दो दिनों के कन्वेंशन के दौरान कहा कि एक पिता-पति के रूप में वे फेल हो गए। शिंदे ने कहा- मैं अपने परिवार की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर सका। मुझे इसका अफसोस है।

शिंदे ने कहा- कल श्रीकांत (शिंदे के बेटे) के भाषण से मुझे परिवार के दुखों का एहसास हुआ। श्रीकांत ने मेरी आंखें खोलीं। मैं जब घर जाता था, तो बच्चे सो चुके होते थे। मैं अपने बेटे से हर महीने नहीं मिल पाता था। अपने परिवार के बारे में बात करते हुए शिंदे भावुक नजर आए।

1708232820

बेटे ने कहा था- पापा के पास हमारे लिए कभी समय नहीं था
शिंदे का ये बयान उनके बेटे और सांसद श्रीकांत शिंदे के बयान के अगले दिन आया है। श्रीकांत ने शुक्रवार (17 फरवरी) को कहा था- मेरे पिता काम में इतने व्यस्त रहते थे कि उनके पास परिवार के लिए कभी समय नहीं रहा। मैं मां से शिकायत करता था कि पापा मुझे समय नहीं देते।

श्रीकांत शिंदे ने शिवसेना के कन्वेंशन में भाषण के दौरान ये बातें कहीं। एकनाथ शिंदे भी वहीं मौजूद थे। इस दौरान पिता-पुत्र, दोनों भावुक हो गए। श्रीकांत कल्याण लोकसभा सीट से शिवसेना के सांसद हैं। 2014 में उन्होंने पहली बार चुनाव लड़ा। तब वे आर्थोपेडिक्स से पोस्ट ग्रेजुएशन (MS) कर रहे थे।

बेटे श्रीकांत के भाषण के दौरान एकनाथ शिंदे भावुक हो गए थे। वे अपने आंसू पोंछते नजर आए।

बेटे श्रीकांत के भाषण के दौरान एकनाथ शिंदे भावुक हो गए थे। वे अपने आंसू पोंछते नजर आए।

शिंदे बोले- मेरे बेटे के पास मुझसे जुड़ी कोई याद नहीं
बेटे की बातों पर शिंदे ने कहा- श्रीकांत के पास हमसे जुड़ी कोई यादें नहीं है। अगर कोई उनसे उनके माता-पिता के साथ गुजारे बचपन की यादों के बारे में पूछे तो वह बता नहीं सकते। जब उन्होंने MBBS किया तब भी मैं नहीं गया। उन्हें (श्रीकांत को) एक शिक्षित युवा के रूप में राजनीति में लाया गया। उन्होंने सांसद बनने के बाद MS की पढ़ाई पूरी की।

इससे पहले शिंदे ने शुक्रवार को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर एक भी पोस्ट किया था। इसमें उन्होंने लिखा- शिवसेना मेरी सब कुछ थी, शिव सैनिक मेरे परिवार थे। मैंने अपने पूरा जीवन उनके लिए काम किया। मुझे नहीं पता था कि आगे क्या होगा। मैं हमेशा आगे की सोच रखने वाला हूं। मैंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

ये खबरें भी पढें…

अजित बोले-शरद पवार का बेटा होता, तो पार्टी अध्यक्ष बनता: सुप्रिया सुले की सीट बारामती में रैली की, यहां से पत्नी सुनेत्रा को उतारेंगे

11708166874 1708234083

महाराष्ट्र के डिप्टी CM अजित पवार ने बारामती में एक रैली के दौरान कहा कि अगर मैं सीनियर (शरद पवार) के घर में पैदा होता, तो स्वाभाविक रूप से NCP का राष्ट्रीय अध्यक्ष बन जाता और पूरी पार्टी मेरे नियंत्रण में होती। अजित ने पार्टी चुराने के आरोपों पर शरद पवार का नाम लिए बिना शुक्रवार को ये बयान दिया। पूरी खबर पढ़ें…

महाराष्ट्र में शिंदे समेत 16 की विधायकी बरकरार: स्पीकर ने कहा- उनका गुट असली शिवसेना; उद्धव बोले- यह SC का अपमान

8 517048976111704912395 1708234207

महाराष्ट्र विधानसभा स्पीकर ने मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे समेत उनके गुट के 16 विधायकों की सदस्यता बरकरार रखी है। स्पीकर राहुल नार्वेकर ने बुधवार को अपने फैसले में कहा कि शिंदे गुट ही असली शिवसेना है। स्पीकर ने उद्धव गुट के 14 विधायकों की सदस्यता भी बरकरार रखी। पूरी खबर पढ़ें…

खबरें और भी हैं…



Source link