दिल्ली में बैन हुए BS3 पेट्रोल और BS4 डीजल वाहन, अपने व्हीकल का 'Bharat Stage' ऐसे चेक करें


दिल्ली पिछले कुछ महीनों से खतरनाक वायु प्रदूषण (Delhi Air Pollution) से जूझ रही है। हालत ऐसी है कि कुछ इलाकों में AQI 450 के भी पार हो गया है। ऐसे में राज्य सरकार इसे कंट्रोल करने के भरसक प्रयास कर रही है। नवंबर में सीमित समय के लिए ग्रेडेड रेस्पॉन्स एक्शन प्लान III (GRAP III) पेश करने के बाद इस सिस्टम को एक बार फिर वापस लाया गया है, जिसके तहत BS3 पेट्रोल और BS4 डीजल कारों का सड़क पर इस्तेमाल बंद होगा। इस बैन से कुछ कैटेगरी के BS3 और BS4 वाहनों को बाहर रखा गया है, लेकिन यदि आप उन कैटेगरी में नहीं आते हैं और अपने पुराने वाहन को सड़क पर चलाते पकड़े जाते हैं, तो आपका 20,000 रुपये का चालान हो सकता है। चलिए आपको इसके बारे में विस्तार से बताते हैं।

अगर आप दूसरे राज्यों से दिल्ली में आ रहे हैं या फिर दिल्ली में रहकर BS3 पेट्रोल और BS4 डीजल कारों का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको सावधान होने की जरूरत है। एयर क्वालिटी इंडेक्स को खतरे से नीचे लाने के लिए दिल्ली सरकार हर एक संभव प्रयास कर रही है। दिल्ली में अब GRAP III को वापस लाया गया है, जिसमें सड़कों पर BS3 पेट्रोल और BS4 डीजल कारों के इस्तेमाल पर रोक है। दिल्ली एनसीआर और आसपास के क्षेत्रों में वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (CAQM) ने बीते महीने ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (GRAP) के वायु प्रदूषण के चलते एक निर्देश जारी किया था। GRAP III प्रतिबंध 22 दिसंबर, 2023 से लागू हो चुके हैं और अगले आदेश तक लागू रहेंगे।

एयर पॉल्यूशन के लिए लगाए गए GRAP III प्रतिबंध के दौरान इमरजेंसी सर्विस, पुलिस वाहन और सरकारी वाहन को इस्तेमाल करने पर छूट मिलेगी। इसके अलावा अन्य कोई भी वाहन सड़क पर चलते पाए जाने पर मोटर वाहन अधिनियम, 1988 की धारा 194 (1) के तहत 20,000 रुपये का जुर्माना देना होगा।
 

आपकी कार किस भारत स्टेज (BS) पर है, ऐसे जांचे:-

रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC)
कई राज्यों के RTO द्वारा जारी किए जाने वाले रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट में कार के BS के बारे में लिखा होता है। एमिशन स्टैंडर्ड के बारे में आमतौर पर “फ्यूल यूज्ड” या “रिमार्क्स” सेक्शन में लिखा होता है।

RTO Form 21
आप अपनी कार के आरटीओ फॉर्म 21 पर भी अपनी कार का भारत स्टेज अनुपालन देख सकते हैं।

मैन्युफैक्चरिंग डेट और VIN
आप अपनी कार की मैन्युफैक्चरिंग डेट और VIN के जरिए भी पता लगा सकते हैं कि उस समय के हिसाब से आपकी कार कौनसे भारत स्टेज में थी।

इनवॉइस और व्हीकल मैनुअल
कार के इनवॉइस या व्हीकल मैनुअल में भी आपको भारत स्टेज के बारे में पता चल सकता है। हालांकि, यह मैन्युफैक्चरर और डीलरशिप के ऊपर निर्भर करता है कि इनवॉइस या मैनुअल में BS का उल्लेख किया गया है या नहीं।



Source link