Anil Ambani Net Worth: क्या अनिल अंबानी की नेटवर्थ हो गई है जीरो? जानिए अभी कितनी बची है संपत्ति


नई दिल्ली: रिलायंस इंडस्ट्रीज के मुखिया मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के छोटे भाई अनिल अंबानी (Anil Ambani) एक समय दुनिया के अरबपतियों की लिस्ट में हुआ करते थे। कभी अरबों की संपत्ति के मालिक अनिल अंबानी खुद को दिवालिया घोषित कर चुके हैं। जहां एक तरफ मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) अभी भारत ही नहीं एशिया के भी सबसे अमीर शख्स हैं। वहीं अनिल अंबानी की हालत खराब है। साल 2020 की फरवरी में अनिल अंबानी (Anil Ambani Net Worth) ने अपनी संपत्ति जीरो बताई थी। हाल में ही ब्रिटेन की एक अदालत में अनिल अंबानी ने कहा है कि उनकी नेटवर्थ जीरो है। अनिल अंबानी (Anil Ambani Net Worth) की कंपनी रिलायंस कैपिटल (Reliance Capital) की नीलामी होने वाली है। देश के दिग्गज कारोबारी समूह हिंदूजा ग्रुप ने रिलायंस कैपिटल को खरीदने के लिए सबसे बड़ी बोली लगाई है। क्या ऐसा वाकई है? आगे जानिए कि अनिल इस समय कहां-कहां से कमाई करते हैं। अनिल अंबानी के पास अभी कितनी संपत्ति है।

Navbharat Times
शेयर बाजार में इस सप्ताह इन स्टॉक्स पर रखें नजर, आ सकता है बड़ा उछाल, मुनाफा कमाने का न चूकें मौका

अनिल अंबानी की नेटवर्थ

रिलायंस अनिल धीरूभाई अंबानी ग्रुप की वेबसाइट के मुताबिक, अनिल अंबानी अभी भी इस ग्रुप के चेयरमैन हैं। ग्रुप में रिलायंस कैपिटल, रिलायंस कम्युनिकेशंस, रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर, रिलायंस एंटरटेनमेंट, रिलायंस पावर और कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी हॉस्पिटल शामिल हैं। ये कंपनियां अनिल अंबानी की कमाई का जरिया हो सकती हैं। अनिल अंबानी की दिवालिया कंपनी रिलायंस कैपिटल को खरीदने के लिए हिंदूजा ग्रुप ने 9650 करोड़ रुपए की बोली लगाई है। अनिल अंबानी अपने भाई मुकेश अंबानी की तरह दुनिया के सबसे अमीर लोगों की सूची में शामिल थे। टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार अनिल अंबानी अभी भी 20,444 करोड़ रु के मालिक हैं। उनके घर की वैल्यू ही 5000 करोड़ रु बताई जाती है।

Navbharat TimesAmbani Family: मुकेश अंबानी हर काम से पहले लेते हैं इनकी सलाह, अंबानी परिवार से है खास नाता, जानिए कौन हैं ये

इन गलतियों ने किया बर्बाद

अनिल अंबानी (Anil Ambani) की ओर से एक के बाद एक गलतियां की गईं। इन गलतियों की वजह से ही अनिल अंबानी (Anil Ambani) बर्बाद होते चले गए। अनिल अंबानी साल 2008 में 45 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ दुनिया के छठे सबसे अमीर शख्स थे। अभी फोर्ब्स की लिस्ट में वह भारत में भी 70वें नंबर से बाहर हैं। जब धीरूभाई अंबानी के रिलायंस ग्रुप का बंटवारा हुआ तो अनिल अंबानी के खाते में कई कंपनियां आईं। अनिल अंबानी के साम्राज्य का पतन यहीं से शुरू हो गया। बंटवारे के बाद सबको लगा कि अनिल अंबानी के पास ज्यादा अच्छी कंपनियां आई हैं। लेकिन अनिल इन कंपनियों को संभाल नहीं पाए।



Source link