थाली में सजे इंद्रधनुष के बारे में सुना है आपने, जानिए क्या है रेनबो डाइट और इसके फायदे


Benefits Of Rainbow Diet: खाना बनाते समय और खाना खाते हुए आपने सब्जी, फल, दाल और अनाजों के रंगों पर भी गौर किया होगा. ये सारे रंग एक साथ रख दिए जाएं तो थाली में कोई इंद्रधनुष सा सजा हुआ नजर आएगा. खाने के रंगों से सजी थाली को रेनबो डाइट कहा जाता है. इस डाइट में हर रंग के खाद्य पदार्थ को शामिल किया जाता है. ताकि शरीर को अलग अलग पोषक तत्व मिल सके. खाने से जुड़ा हर कुदरती रंग खास पोषण की तरफ इशारा करता है.

लाल रंग

लाल रंग के जितने फल और सब्जियां हैं वो दिल के लिए फायदेमंद है. टमाटर, तरबूज, अनार, चुकंदर, स्ट्रॉबेरी जैसे फल सब्जियां इस रंग में शामिल है. लाल रंग के खाद्य पदार्थों में लायकोपीन एंटीऑक्सीडेंटहोता है. जो दिल की बीमारियों को दूर रखता है.

नारंगी रंग

इस रंग के फल सब्जियों में कैरोटीन नाम का तत्व होता है. संतरा तो इस रंग का खाना है ही. इसके अलावा कद्दू, गाजर और पीच जैसी चीजें आती हैं. इन खानों की वजह से आपकी स्किन और बालों को पोषण मिलता है.

पीला रंग

पीले रंग के खानों में आप पपीता, पाइनेप्पल, नींबू, आम, मक्का और खरबूजा जैसी चीजों को रख सकते हैं. इनमें भरपूर ब्रोमेलाइन और पपाइन होता है. ये तत्व डाइजेस्टिव सिस्टम को मजबूत रखती हैं.

हरा रंग

हरी फल और सब्जियां तो हमेशा से ही पोषण का खजाना मानी जाती हैं. इस रंग के खानों में भरपूर फॉलेट और आयरन होता है. जितनी पत्तेदार सब्जियां है सब इस पोषक तत्व से भरपूर होती हैं.

नीला या बैंगनी 

बैंगन, जामुन, काले अंगूर जैस फल सब्जियां इस रंग का नेतृत्व करते हैं. इस रंग के खाद्य पदार्थ बच्चों की मेंटल एबिलिटी को बढ़ाते हैं. इनमें एंथोसियानिन, रेस्वेट्रॉल जैसे तत्व होते हैं जो इम्यून सिस्टम को स्ट्रॉन्ग बनाते हैं और डाइजेशन को अच्छा रखते हैं.

 

सफेद रंग

सफेद रंग की भी बहुत सी फल सब्जियां हैं. इसमें प्याज, लहसुन, गोभी, केला जैसी चीजें आती हैं. ये हाई फाइबर होती हैं साथ ही इनमें पोटेशियम भी होता है. 

 

यह भी पढ़ें 

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link