5 हेल्थ टिप्स अपनाकर खुद को फिट रख सकती हैं वर्किंग वुमेन, न घर का काम आड़े आएगा, न ऑफिस की रहेगी टेंशन


हैवी नाश्ता करें : अक्सर काम के चक्कर में वर्किंग वुमेन खाने पर ध्यान नहीं दे पाती हैं. ऐसे में कोशिश करें कि सुबह का नाश्ता हैवी रहे. इससे पेट भरा रहेगा और काम के वक्त भूख भी नहीं लगेगी. इसका असर आपके काम पर भी नहीं होगा.

हैवी नाश्ता करें : अक्सर काम के चक्कर में वर्किंग वुमेन खाने पर ध्यान नहीं दे पाती हैं. ऐसे में कोशिश करें कि सुबह का नाश्ता हैवी रहे. इससे पेट भरा रहेगा और काम के वक्त भूख भी नहीं लगेगी. इसका असर आपके काम पर भी नहीं होगा.

हेल्दी डाइट को ही चुनें: कई बार ऐसा होता है जब भूख लगने पर वर्किंग वुमन जंक फूड या तला भुना खा लेती हैं. इससे उनके दिमाग और शरीर को पोषण नहीं मिल पाता है और वे बीमार हो जाती हैं. इसलिए कोशिश करनी चाहिए कि घर का ही खाना खाएं. डाइट हमेशा हेल्दी रखें. दही, सीजनल फ्रूट्स और हरी सब्जियों जैसी न्यूट्रिएंट्स रिच खाने का सेवन करें.

हेल्दी डाइट को ही चुनें: कई बार ऐसा होता है जब भूख लगने पर वर्किंग वुमन जंक फूड या तला भुना खा लेती हैं. इससे उनके दिमाग और शरीर को पोषण नहीं मिल पाता है और वे बीमार हो जाती हैं. इसलिए कोशिश करनी चाहिए कि घर का ही खाना खाएं. डाइट हमेशा हेल्दी रखें. दही, सीजनल फ्रूट्स और हरी सब्जियों जैसी न्यूट्रिएंट्स रिच खाने का सेवन करें.

पानी से न करें परहेज: काम में उलझकर कई बार वर्किंग वुमन पानी पीना ही भूल जाती हैं. इसकी वजह से डिहाइड्रेशन का शिकार हो सकती हैं. इसलिए ध्यान रखें कि काम के बीच-बीच में पानी पीते रहें. कोशिश करें की दिनभर में 8-10 गिलास पानी पी लें. इससे आप हाइड्रेटेड और एनर्जेटिक रहेंगी.

पानी से न करें परहेज: काम में उलझकर कई बार वर्किंग वुमन पानी पीना ही भूल जाती हैं. इसकी वजह से डिहाइड्रेशन का शिकार हो सकती हैं. इसलिए ध्यान रखें कि काम के बीच-बीच में पानी पीते रहें. कोशिश करें की दिनभर में 8-10 गिलास पानी पी लें. इससे आप हाइड्रेटेड और एनर्जेटिक रहेंगी.

तनाव से दूरी बनाएं: घर और ऑफिस का काम एक साथ करना काफी चैलेंजिंग होता है, ऐसे में इसे मैनेज करते-करते महिलाएं स्ट्रेस लेने लगती हैं, जिससे न सिर्फ उनका मूड ऑफ रहता है बल्कि काम में मन भी नहीं लगता है. ऐसे में काम का प्रेशर लेने की बजाय खुश रहने की कोशिश करें. इससे आप तनाव से बच सकेंगी.

तनाव से दूरी बनाएं: घर और ऑफिस का काम एक साथ करना काफी चैलेंजिंग होता है, ऐसे में इसे मैनेज करते-करते महिलाएं स्ट्रेस लेने लगती हैं, जिससे न सिर्फ उनका मूड ऑफ रहता है बल्कि काम में मन भी नहीं लगता है. ऐसे में काम का प्रेशर लेने की बजाय खुश रहने की कोशिश करें. इससे आप तनाव से बच सकेंगी.

रिलेक्सिंग थेरेपी आएगी काम: काम के दौरान वर्किंग वुमन थकान फील करने पर उसे इग्नोर करती हैं, यह पूरी तरह गलत है. इसलिए कोशिश करें कि काम के बीच 20 सेकेंड का ब्रेक लेकर आंखों को रिलैक्स करने का मौका दें. आप चाहें तो कुछ देर वॉक भी कर सकती हैं. इससे बैक पेन की समस्या से भी बच जाएंगी और हेल्दी भी रहेंगी.

रिलेक्सिंग थेरेपी आएगी काम: काम के दौरान वर्किंग वुमन थकान फील करने पर उसे इग्नोर करती हैं, यह पूरी तरह गलत है. इसलिए कोशिश करें कि काम के बीच 20 सेकेंड का ब्रेक लेकर आंखों को रिलैक्स करने का मौका दें. आप चाहें तो कुछ देर वॉक भी कर सकती हैं. इससे बैक पेन की समस्या से भी बच जाएंगी और हेल्दी भी रहेंगी.

आजकल की बिजी लाइफस्टाइल में खुद के लिए वक्त निकाल पाना काफी कठिन होता है. वर्किंग वुमेन के लिए यह और भी ज्यादा चैलेंजिंग होता है.  पर इन टिप्स को फॉलो कर आप इस चैलेंज को ओवर कम कर सकते हैं.

आजकल की बिजी लाइफस्टाइल में खुद के लिए वक्त निकाल पाना काफी कठिन होता है. वर्किंग वुमेन के लिए यह और भी ज्यादा चैलेंजिंग होता है. पर इन टिप्स को फॉलो कर आप इस चैलेंज को ओवर कम कर सकते हैं.

Published at : 07 Mar 2024 05:12 PM (IST)

हेल्थ फोटो गैलरी

हेल्थ वेब स्टोरीज



Source link