कुतें हाथ जोड़ कर क्यों हिलाते हैं पूंछ? खुशी के लिए या कुछ और है रहस्य


Why Dogs Wags Their Tails: अभी हाल में कुत्तों द्वारा किये जाने वाले शारिरिक हरकत पर शोध हुआ है. इसमें खुलासा हुआ है कि कुत्ते न केवल खुशी का संकेत देने के लिए बल्कि अन्य जटिल भावनाओं को व्यक्त करने के लिए भी अपनी पूंछ हिलाते हैं. यूरोप के शोधकार्ताओं ने हाल में बायोलॉजी लेटर्स जर्नल में कुत्तों में पूंछ हिलाने के विकास पर दो प्रमुख सिद्धांत के बारे में बात की है.

अध्ययन से पता चलता है कि जब कुत्ते सकारात्मक भावना का अनुभव करते हैं, तो वे अपनी पूंछ को दाईं ओर अधिक हिलाते हैं, जब उनमें कोई नकारात्मक भावना होती है तो उनका हिलना बायीं ओर अधिक झुकता है.

हार्मोन से लेकर उत्तेजना तक जुड़ा है संबंध
मैक्स प्लैंक इंस्टीट्यूट फॉर साइकोलिंग्विस्टिक्स में तुलनात्मक जैव ध्वनिकी में कुत्तों को लेकर अध्ययन किया गया. उसमें बताया गया कि कुत्तों के शरीर में लड़खड़ाहट और उत्तेजना संबंधित हार्मोन या न्यूरोट्रांसमीटर जुड़े हो सकते हैं. उन्होंने यह भी बताया कि तनाव हार्मोन कोर्टिसोल और पूंछ हिलाने के बीच संबंध हो सकता है.

इंसानों से बात करना
मैक्स प्लैंक इंस्टीट्यूट फॉर साइकोलिंग्विस्टिक्स में पूंछ वाले जानवरों को लेकर स्टडी हुई. इसमें बताया गया कई जानवर, हिलने-डुलने (मगरमच्छ के तैरने), संतुलन बनाने (एक संकीर्ण बाड़ के साथ चलने वाली बिल्ली), और कीटों को हटाने (घोड़ा) के लिए करते हैं, इसके बजाए कुत्ते संचार यानी की अपने मालिकों से बात करने के लिए पूंछ का उपयोग करते हैं.

जंगली जानवरों और कुतों के पूंछ हिलाने में अंतर
स्टडी में खुलासा हुआ है कि भेड़ियों के तुलना में कुत्ते अपनी पूंछ अधिक हिलाते हैं. ये बहुत कम उम्र से ही पूंछ हिलाना शुरू कर देते हैं, जिससे पता चलता है कि मनुष्यों द्वारा उन्हें पालतू बनाना शुरू करने के बाद उनका व्यवहार उसी तरह विकसित हुआ. कुत्तों ने अपने मानव स्वामियों के साथ संवाद करने के एक तरीके के रूप में वैगिंग को अपनाया होगा.

मित्रता की पहचान
पूंछ हिलाने की प्रवृति उनके कंट्रोल में नहीं होता है. वह एक स्वतः होने वाली क्रिया है, जब कुते किसी के वश में हो या अपनी मित्रता को दर्शाते हों, हालांकि ये सिद्धांत बताते हैं कि पूंछ हिलाना कैसे और क्यों विकसित हुआ, फिर भी कई अनुत्तरित प्रश्न हैं.

Tags: Dogs, New Study, Science news



Source link