जब एक ही मंच पर पहुंचे पीएम मोदी और सीएम गहलोत, एक दूसरे पर ऐसे साधा निशाना


राजस्थान में एक ही मंच पर पीएम मोदी (दांए) और सीएम अशोक गहलोत (बांए)- India TV Hindi

Image Source : ANI
राजस्थान में एक ही मंच पर पीएम मोदी (दांए) और सीएम अशोक गहलोत (बांए)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज राजस्थान में राजसमंद के नाथद्वारा में विभिन्न योजनाओं के शिलान्यास और उद्घाटन समारोह में पहुंचे। इस दौरान एक ही मंच पर जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पहुंचे तो अपने-अपने भाषणों में बिना किसी का नाम लिए, एक दूसरे पर निशाने साधे। इस दौरान जहां एक ओर गहलोत ने इशारों ही इशारों में कहा कि पहले हम गुजरात से मुकाबला करते थे और महसूस करते थे कि हम पिछड़ रहे हैं लेकिन अब हम आगे बढ़ गए हैं। तो वहीं पीएम ने कहा कि देश में कुछ लोग इतनी नकारात्मकता से भरे हैं क‍ि वह कुछ भी अच्‍छा होता देखना नहीं चाहते।

गहलोत बोले- हम गुजरात से आगे बढ़ गए

सबसे पहले मंच पर अशोक गहलोत आए और संबोधित किया। इस दौरान राजस्थान सीएम ने कहा, “मैं पीएम मोदी का स्वागत करता हूं। मुझे खुशी है कि प्रधानमंत्री आज राष्ट्रीय राजमार्ग और रेलवे परियोजनाओं को समर्पित करेंगे। राजस्थान में अच्छे काम हुए हैं, राजस्थान में सड़कें अच्छी हैं। पहले हम गुजरात से मुकाबला करते थे और महसूस करते थे कि हम पिछड़ रहे हैं लेकिन अब हम आगे बढ़ गए हैं।” गहलोत ने आगे कहा,”मुझे यह कहते हुए खुशी हो रही है कि हमारी सरकार के सुशासन के कारण राजस्थान आर्थिक विकास के मामले में देश में दूसरे नंबर पर पहुंच गया है। हमारे राज्य की लंबित मांगों को लेकर मैं आपको (पीएम मोदी) पत्र लिखता रहता हूं और लिखता रहूंगा।”

इस दौरान अशोक गहलोत ने कहा कि विपक्ष का भी सम्मान होना चाहिए। लोकतंत्र में दुश्मनी नहीं विचारधारा की लड़ाई है। देश में प्रेम और भाईचारा बना रहे। हम मिलकर चलेंगे तो देश एक और अखंड रहेगा। हिंसा विकास को रोकती है। विपक्ष के बिना सरकार नहीं होती इसलिए विपक्ष का सम्मान होना चाहिए।

बिना नाम लिए पीएम मोदी ने साधा निशाना
इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने माइक संभाला और संबोधित किया। पीएम मोदी ने भी किसी का नाम लिए बिना कहा कि देश में कुछ लोग नकारात्मकता से भरे हैं। कुछ लोगों को विवाद खड़ा करना ही अच्छा लगता है। नकारात्मकता से भरे लोगों की दूरदृष्टि नहीं होती। ऐसे लोग राजनीति से ऊपर उठकर कुछ नहीं सोच पाते हैं। पीएम ने कहा कि जो लोग हर चीज वोट के तराजू से तौलते हैं वो जनता को ध्यान में रखकर योजना नहीं बना पाते। पीएम ने कहा कि आपने कुछ लोगों को ‘आटा पहले या डाटा पहले’ कहते सुना होगा लेकिन इतिहास गवाह है कि तेज गति से हो रहे विकास के लिए बुनियादी सुविधाओं के साथ-साथ आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर भी जरूरी है।

गौरतलब है कि राजस्थान के नाथद्वारा में प्रधानमंत्री मोदी का जोरदार स्वागत हुआ। यहां प्रधानमंत्री ने 5,500 करोड़ रुपये से अधिक की विकास परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया।

ये भी पढ़ें-

कोलकाता: राजभवन के पास सराफ भवन में लगी आग, मौके पर दमकल की 10 गाड़ियां, राज्यपाल ने कही ये बात

“शिवसेना विधायकों के निलंबन पर फैसले का मेरा अधिकार”, सुप्रीम कोर्ट के निर्णय से पहले बोले महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष
 





Source link