'ब्रह्मास्त्र' रिजेक्ट करने पर सिद्धांत चतुर्वेदी को भुगतना पड़ा अंजाम, कास्टिंग वालों ने कर दिया था ब्लैकलिस्ट


सिद्धांत चतुर्वेदी ने 2019 में ‘गली ब्वॉय’ से बॉलीवुड में डेब्यू किया। फिल्म में लीड रोल में रणवीर सिंह थे इसके बावजूद सभी ने उन्हें नोटिस किया। सिद्धांत ने हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में चौंकाने वाला खुलासा किया कि जब उन्होंने ‘ब्रह्मास्त्र’ में काम करने से मना कर दिया तो कास्टिंग सर्कल में उन्हें ब्लैकलिस्ट कर दिया गया था। उन्हें घमंडी समझा जाने लगा। फिल्म के लिए जब उन्हें ऑडिशन देने के लिए कहा गया था तब बहुत शुरुआती स्तर पर काम चल रहा था। ‘ब्रह्मास्त्र’ को आने में कई साल लग गए और इस बीच उनकी ‘गली ब्वॉय’ आ गई।

फिल्म को बनने में लगे 5 साल

‘ब्रह्मास्त्र’ में रणबीर कपूर, आलिया भट्ट और अमिताभ बच्चन मुख्य भूमिकाओं में थे। इसे अयान मुखर्जी ने डायरेक्ट किया और करण जौहर ने प्रोड्यूस किया। लल्लनटॉप के साथ इंटरव्यू में सिद्धांत चतुर्वेदी ने बताया कि ‘गली ब्वॉय से एक महीने पहले यह (ब्रह्मास्त्र) हुआ था। एक बहुत बड़ी फिल्म बन रही थी और मेकर्स ने मुझे एक किरदार ऑफर किया। यह मुझे एक कास्टिंग डायरेक्टर के माध्यम से मिला था। कई किरदारों में से एक यह था लेकिन इसके लिए तब तक कोई स्क्रिप्ट तैयार नहीं थी। उन्होंने कहा कि आप मार्शल आर्ट करते हैं। यह एक एक्शन फैंटसी फिल्म है। एक आश्रम है, उसमें एक सुपरहीरो का किरदार मिला था मुझे। उन्होंने कहा कि मुझे यह करना चाहिए। यह एक वीएफएक्स वाला प्रोजेक्ट है और इसे बनाने में 5 साल लगेंगे।’

डायरेक्टर के पास नहीं थी स्क्रिप्ट

एक्टर ने कहा, ‘मैंने डायरेक्टर से मुलाकात की, प्रोडक्शन हाउस भी बड़ा है और यह तीन फिल्मों का प्रोजेक्ट है। मैं बता देता हूं कि यह फिल्म ब्रह्मास्त्र थी। मेरी भूमिका आश्रम के सुपरहीरो में से एक की थी। मैंने अयान (मुखर्जी) से कहा कि मुझे एक स्क्रिप्ट दीजिए ताकि मैं समझ सकूं कि क्या है, मैं बहुत एक्साइटेड हूं। स्क्रिप्ट नहीं थी और तब बहुत शुरुआती चरण था। उन्होंने कहा कि यह 3 पार्ट में बनने वाली फिल्म है। मुझे समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूं और उस रोल के लिए ऑडिशन की लंबी लाइनें लगी थीं।’

इस वजह से कर दिया था मना

सिद्धांत ने कहा, “मैंने कास्टिंग डायरेक्टर से कहा कि मैं यह नहीं कर पाऊंगा। यह सुनकर वह अपनी सीट से खड़े हो गए और कहा, ‘पागल है, धर्मा के साथ है, 3 फिल्मों का कॉन्ट्रैक्ट है।’ तो मैंने कहा, ‘मुझे कौन देखेगा, अगर अमिताभ बच्चन वहां हैं, रणबीर कपूर और आलिया भट्ट एक साथ हैं। फिल्म में मैं क्या कह रहा हूं यह समझने के लिए कम से कम मेरे पास डायलॉग की दो लाइनें होनी चाहिए।”

फिल्म से एडिट कर दिया गया किरदार

आगे वह कहते हैं, “मुझे ब्लैकलिस्ट कर दिया गया था कास्टिंग से। ब्लैकलिस्ट कर दिया कि ये तो पागल है लड़का। बदनाम हो गया था मैं कास्टिंग सर्किल में कि ये सेलेक्ट हो के ना बोल देता है। उनका ऐसा था कि है ‘कौन है भाई तू, घमंडी है…’, शुक्र है कि फिल्म को बनने में काफी समय लग गया और तब तक गली ब्वॉय आ गई। मुझे लगता है कि उस किरदार (ब्रह्मास्त्र) को शायद एडिट भी कर दिया गया। फिल्म में वह नहीं था। जो भी होता है अच्छे के लिए होता है।”



Source link