टाटा टेक्नोलॉजीज के IPO की आहट से रॉकेट बना रतन टाटा का ये शेयर, ताबड़तोड़ खरीदारी कर रहे निवेशक, न चूकें मौका


नई दिल्ली: शेयर बाजार में निवेश करने वालों के लिए अच्छी खबर है। टाटा ग्रुप की कंपनी टाटा टेक्नोलॉजीज का आईपीओ (IPO) आने वाला है। देश का सबसे औद्योगिक घराना टाटा ग्रुप (Tata Group) 20 साल बाद आईपीओ (IPO) ला रहा है। पिछले दिनों टाटा मोटर्स (Tata Motors) की सहयोगी कंपनी टाटा टेक्नोलॉजीज (Tata Technologies) ने इसके लिए मार्केट रेगुलेटर सेबी (SEBI) के पास दस्तावेज जमा कर दिए थे। यह इश्यू पूरी तरह ऑफर फॉर सेल (OFS) होगा और इसमें एक भी नया शेयर जारी नहीं किया जाएगा। इसमें प्रमोटर टाटा मोटर्स के अलावा दो अन्य मौजूदा शेयरहोल्डर्स शेयरों की बिक्री करेंगे। टाटा ग्रुप के इस आईपीओ के आने की आहट भर से टाटा मोटर्स (Tata Motors) के शेयरों में तूफानी तेजी आ गई है। टाटा मोटर्स के शेयर लगातार बढ़त के साथ बंद हो रहे हैं। आज भी टाटा मोटर्स के शेयर बढ़त के साथ हरे निशान पर बंद हुए हैं।

navbharat times
Tata Motors: तूफानी तेजी से भाग रहा रतन टाटा का ये शेयर, 12 मई को कंपनी कर सकती है बड़ा ऐलान, पूरी डिटेल

टाटा मोटर्स के शेयरों में क्यों आई तेजी

टाटा टेक्नोलॉजीज के आईपीओ की आहट से टाटा मोटर्स के शेयरों में सबसे ज्यादा उछाल आया है। दरअसल टाटा टेक्नोलॉजीज में टाटा मोटर्स की कुल हिस्सेदारी 74.69 फीसदी थी। अल्फा टीसी होल्डिंग पीटीई और टाटा कैपिटल ग्रोथ के पास क्रमश: 7.26 प्रतिशत और 3.63 फीसदी की हिस्सेदारी है। कंपनी ने जब से सेबी के पास आईपीओ के लिए दस्तावेज जमा किए हैं। इसके बाद से ही टाटा मोटर्स के शेयरों में तेजी देखी जा रही है। पिछले कुछ दिनों में ही टाटा मोटर्स के शेयर 500 रुपये के स्तर को पार कर चुके हैं। इसमें 25 फीसदी का उछाल देखने को मिला है।

navbharat timesTata Motors Dividend: रतन टाटा की यह कंपनी देने जा रही बंपर डिविडेंड, फटाफट नोट कर लें तारीख, मिलेगी खुशखबरी

इसके पहले कब आया था आईपीओ

बता दें कि इसके पहले साल 2004 में टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) का आईपीओ आया था। टीसीएस आज देश की दूसरी सबसे मूल्यवान कंपनी है। मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज पहले नंबर पर है। टाटा टेक्नोलॉजीज का आईपीओ ऑफर फॉर सेल के रेचर का है। कंपनी के मौजूदा निवेशक अपनी हिस्सेदारी घटाएंगे, जिसके बदले में नए शेयर जारी किए जाएंगे। इस आईपीओ के जरिए टाटा मोटर्स टाटा टेक्नोलॉजीज में अपनी हिस्सेदारी घटाने का फैसला किया है।



Source link