खतरनाक है Pre Hypertension…जब शरीर दे इस तरह के संकेत तो संभल जाइए…


Pre Hypertension : बिगड़ी लाइफस्टाइल और खराब खानपान की वजह से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या बहुत ही कॉमन होती जा रही है. हाई बीपी की समस्या को ही हाइपरटेंशन (Hypertension) कहा जाता है. जब शरीर का ब्लड सर्कुलेशन सामान्य से ज्यादा तेज हो जाता है, तब ब्लड प्रेशर की समस्या होती है. हाई बीपी या हाइपरटेंशन से पहले बॉडी में जो बदलाव होते हैं, वही प्री-हाइपरटेंशन (Pre Hypertension) की स्थिति होती है. आज दुनियाभर में यह समस्या तेजी से फैल रही है. नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे की रिपोर्ट के अनुसार, भारत में हर 8 में से एक एक इंसान हाई बीपी की समस्या से परेशान है. आइए जानते हैं प्री-हाइपर टेंशन क्या है और इससे जुड़ी पूरी डिटेल्स…

प्री-हाइपरटेंशन क्या है 

प्री-हाइपरटेंशन एक ऐसी कंडिशन है, जहां से हाई बीपी की शुरुआत होती है. इसे स्टेज 1 हाइपरटेंशन भी कहा जाता है. हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक, प्री-हाइपरटेंशन एक अलर्ट साइन है, जो सही समय पर सही कदम उठाने का इशारा करता है. हालांकि, इस समस्या का कोई विशेष इलाज नहीं है. लाइफस्टाइल में बदलाव कर आप खुद को हाइपरटेंशन होने से बचा सकते हैं. 

प्री-हाइपरटेंशन के क्या लक्षण हैं

हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक, ज्यादातर केस में प्री-हाइपरटेंशन के लक्षण (Pre-Hypertension Symptoms) नजर नहीं आते हैं. जिन लोगों में यह कंडिशन ज्यादा दिनों से बनी होती है, उन्हें कई तरह की परेशानियां होती है. प्री-हाइपरटेंशन में कई ऐसे लक्षण भी दिखते हैं, जिन्हें हाइपरटेंशन का संकेत माना जाता है. 

जब यह समस्या बढ़ती है तो दिल से जुड़ी समस्याएं भी हो सकती हैं. इसलिए समय रहते इससे संभल जाना चाहिए. प्री-हाइपरटेंशन में कुछ लक्षण इस तरह हैं…

सिर में लगातार दर्द होना

ज्यादा थकान और चक्कर आना

बेचैनी और नींद की कमी महसूस होना

चिड़चिड़ापन या ज्यादा गुस्सा आना.

प्री-हाइपरटेंशन का कारण

असंतुलित खानपान और खराब लाइफस्टाइल

रात में ज्यादा देर से खाना खाना

फिजिकल एक्टिविटी न करना

हाई कोलेस्ट्रॉल और डायबिटीज की प्रॉब्लम

प्री-हाइपरटेंशन से बचाव 

प्री-हाइपरटेंशन की समस्या का कोई परफेक्ट इलाज (Pre-Hypertension Prevention) नहीं है. हालांकि, लाइफस्टाइल और डाइट में बदलाव कर आप इस समस्या से बच सकते हैं. प्री-हाइपरटेंशन से बचने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए…

लाइफस्टाइल और डाइट में सुधार करें.

रोजाना 30 से 40 मिनट तक एक्सरसाइज, योग करें.

बीपी कंट्रोल रखने सिगरेट-शराब से दूरी बनाएं.

 

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों और सुझाव पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें.

 

यह भी पढ़ें

 

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link