अब FD पर मिलेगा पहले से अधिक ब्याज, बस इस कंडीशन को करना होगा फॉलो


FD in Bajaj FinServ- India TV Paisa
Photo:FILE FD in Bajaj FinServ

FD in Bajaj Finserv: बजाज फिनसर्व की लोन देने वाली इकाई बजाज फाइनेंस ने सावधि जमा (एफडी) की ब्याज दरों में 0.40 प्रतिशत वृद्धि कर दी है। कंपनी ने बुधवार को यह जानकारी दी। इसके साथ ही वरिष्ठ नागरिकों के लिए 44 महीनों की विशेष अवधि की जमा के लिए 8.60 प्रतिशत की वार्षिक दर से ब्याज मिलेगा। कंपनी ने कहा कि नई दरें 36 महीने से 60 महीने तक की परिपक्वता अवधि वाली जमाओं पर 0.40 प्रतिशत तक बढ़ाई गई हैं। बजाज फाइनेंस ने कहा कि 60 वर्ष से कम के जमाकर्ताओं को 8.05 प्रतिशत वार्षिक तक ब्याज मिलेगा, जबकि वरिष्ठ नागरिकों को 8.30 प्रतिशत वार्षिक तक ब्याज मिलेगा। कंपनी के अनुसार, बजाज फाइनेंस की एफडी पर संशोधित दरों का लाभ नई जमाओं और पांच करोड़ रुपये तक की परिपक्व होने वाली जमाओं के नवीकरण पर मिलेगा। 

सीनियर सिटीजन के लिए है ये खास ऑफर

यूनिटी बैंक अपने सामान्य ग्राहकों को फिक्स्ड डिपॉजिट कराने पर 4.5 से लेकर 9 प्रतिशत तक ब्याज दरें दे रहा है, जिसके अलग-अलग अवधि और टर्म्स हैं। वहीं, बैंक अपने वरिष्ट ग्राहकों 9.5 प्रतिशत प्याज दे रहा है। लेकिन ध्यान रखें कि इसके लिए सीनियर सिटीजन को क 1001 दिन वाले FD को चुनना होगा। यूनिटी बैंक द्वारा सीनियर सिटीजन को एक और ऑफर दिया जा रहा है, जिसमें अगर वे 181 दिन से लेकर 201 दिन और 501 दिन वाले FD कराते हैं, तो उन्हें FD पर 9.25 ब्याज मिलेगा। ध्यान रखें कि इसमें सामान्य ग्राहकों को यूनिटी बैंक 8.75 प्रतिशत इंट्रेस्ट दे रहा है। वहीं, अगर कोई कस्टमर अवधि पूरा होने से पहले FD को विड्रॉ कर लेती है, तो उस व्यक्ति को मिलने वाले ब्याज से 1 प्रतिशत की कटौती कर लेगी। ऐसे में ग्राहकों को पूरी अवधि तक FD रखने में अधिक फायदा होगा। 

कुछ जरूरी बातें

ध्यान रखें कि हर बैंक FD कराने पर अलग-अलग इंट्रेस्ट रेट देती है। वहीं, उनके कई ऐसे टर्म होते हैं, जिसपर आप ध्यान देकर अधिक मुनाफा कमा सकते है। सीधेतौर पर बोला जाए, तो कुछ बैंक कुछ निश्चित अवधि में अधिक इंस्ट्रेस्ट रेट देती है, यह अवधि कम या फिर ज्यादा हो सकती है। ऐसे में आपको इन अवधि पर एक बार गौर करने की जरूरत होती है। अगर आप इन अवधि को मद्देनजर रखते हुए FD कराते हैं, तो आपको अधिक इंट्रेस्ट मिल सकता है। 

Latest Business News





Source link