Neuralink: इंसान ने केवल सोचकर चला दिया कंप्यूटर माउस, जानें क्या है एलन मस्क का ये प्रोजेक्ट?


न्यूरालिंक (Neuralink) के संस्थापक एलन मस्क (Elon Musk) ने सोमवार को घोषणा की थी कि न्यूरालिंक ब्रेन-चिप प्रत्यारोपित किया गया पहला मानव रोगी पूरी तरह से ठीक हो गया है और अपने दिमाग का उपयोग करके कंप्यूटर माउस को कंट्रोल कर सकता है। मस्क ने खुद इस अपडेट को पब्लिक के साथ शेयर किया। Neuralink ने कुछ महीनों पहले लोगों से आवेदन लेने शुरू किए थे, जिनके दिमाग में ‘चिप’ लगाई जा सके। हजारों ऐप्लिकेशन में से शॉर्ट लिस्‍ट करने के बाद कंपनी ने अपना पहला ह्यूमन ब्रेन इम्‍प्‍लांट (मानव मस्तिष्क प्रत्यारोपण) किया। कंपनी को इस काम के लिए पहले ही FDA से मंजूरी मिल गई थी।

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार, मस्क ने X पर अपडेट शेयर करते हुए बताया कि मरीज अब पूरी तरह से ठीक है और अपने दिमाग से कंप्यूटर माउस को कंट्रोल करने में सक्षम है। उन्होंने बताया कि मरीज को बिना किसी साइड इफेक्ट के सफलतापूर्वक ठीक होने का अनुभव हुआ है। व्यक्ति अब केवल सोच कर कंप्यूटर माउस को स्क्रीन के चारों ओर घुमाने में सक्षम है। 

मस्क ने कहा, “प्रगति अच्छी है, और ऐसा लगता है कि मरीज पूरी तरह से ठीक हो गया है, कोई दुष्प्रभाव नहीं है जिसके बारे में हम जानते हैं। मरीज सिर्फ सोच कर स्क्रीन के चारों ओर माउस घुमाने में सक्षम है।”

न्यूरालिंक को सितंबर में मानव परीक्षण भर्ती के लिए मंजूरी मिली और पिछले महीने अपने पहले मानव रोगी में ब्रेन-कंप्यूटर इंटरफेस चिप प्रत्यारोपित करने की उपलब्धि हासिल की। स्टडी का शुरुआती लक्ष्य व्यक्तियों को अपने विचारों का उपयोग करके कंप्यूटर कर्सर या कीबोर्ड को कंट्रोल करने में सक्षम बनाना है।

रिपोर्ट आगे बताती है कि एलन मस्क के पास न्यूरालिंक के लिए महत्वाकांक्षी योजनाएं हैं, जिसमें मोटापा, ऑटिज्म, अवसाद और सिजोफ्रेनिया जैसी विभिन्न स्थितियों के इलाज के लिए क्विक और एफिशिएंट सर्जिकल सम्मिलन के लिए इसकी तकनीक का उपयोग करने की कल्पना की गई है।



Source link