महाराष्ट्र में प्रसाद खाने के बाद 300 से ज्यादा बीमार: अस्पताल के बाहर सड़क पर हुआ इलाज, सलाइन की बोतलें पेड़ों से लटकाई गईं


मुंबई13 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
बेड की कमी को देखते हुए ज्यादातर मरीजों का इलाज अस्पताल के बाहर सड़क पर करना पड़ा। - Dainik Bhaskar

बेड की कमी को देखते हुए ज्यादातर मरीजों का इलाज अस्पताल के बाहर सड़क पर करना पड़ा।

महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले में एक धार्मिक कार्यक्रम के दौरान प्रसाद खाने के बाद 300 से ज्यादा लोग बीमार पड़ गए। इनमें महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं।

मामले का वीडियो भी सामने आया है। इसमें दिख रहा है कि एक अस्पताल के बाहर सड़क पर कई मरीजों का इलाज किया जा रहा है। सलाइन की बोतलें पेड़ों से बंधी रस्सियों से लटकाई गई हैं।

जिला कलेक्टर किरण पाटिल ने न्यूज एजेंसी PTI को बताया कि यह घटना मंगलवार की है। सोमथाना गांव में ‘हरिनाम’ नाम का साप्ताहिक धार्मिक आयोजन हुआ था।

अस्पताल के बाहर सड़क पर मरीजों का इलाज किया गया।

अस्पताल के बाहर सड़क पर मरीजों का इलाज किया गया।

मंदिर में 500 श्रद्धालु थे, 300 बीमार
मंगलवार की रात 10 बजे सोमथाना और खापरखेड़ गांवों से करीब 500 श्रद्धालु प्रसाद लेने के लिए मंदिर आए। प्रसाद खाने के बाद उन्हें पेट दर्द और उल्टी की शिकायत हुई। बीमार पड़े लोगों को बीबी गांव के एक अस्पताल में ले जाया गया, लेकिन बेड की कमी को देखते हुए ज्यादातर मरीजों का इलाज अस्पताल के बाहर सड़क पर करना पड़ा। पेड़ों से बांधी गई रस्सियों पर सलाइन की बोतलें लगाई गईं।

स्थानीय लोगों का कहना है कि अस्पताल के अंदर जगह नहीं थी और मरीज ज्यादा थे।

स्थानीय लोगों का कहना है कि अस्पताल के अंदर जगह नहीं थी और मरीज ज्यादा थे।

कुछ मरीजों का अस्पताल के अंदर इलाज किया गया।

कुछ मरीजों का अस्पताल के अंदर इलाज किया गया।

प्रसाद के नमूने की जांच होगी
जिला कलेक्टर किरण पाटिल ने कहा कि सभी मरीजों की हालत स्थिर है और उनमें से ज्यादातर को बुधवार को छुट्टी दे दी गई। उन्होंने आगे कहा कि मेडिकल इमरजेंसी की स्थिति होने पर डॉक्टरों की एक टीम को एम्बुलेंस और अन्य आवश्यक उपकरणों के साथ तैनात किया गया है। उन्होंने आगे कहा कि प्रसाद के नमूने की जांच की जाएगी।

हेल्थ से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें …

महाराष्ट्र के अस्पताल में अब तक 31 मरीजों की मौत:24 घंटे में 24 की जान गई थी, इनमें 12 बच्चे; दो दिन में और 7 लोगों ने दम तोड़ा

comp 7 2169626252816963097971696310773 1708513040

महाराष्ट्र में नांदेड़ के शंकरराव चव्हाण सरकारी अस्पताल में 24 घंटे में 24 मौतों के बाद 1 और 2 अक्टूबर को और 7 लोगों की जान चली गई। इसी के साथ 36 घंटे के दौरान मरने वालों की संख्या 31 पहुंच गई है। पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने बताया कि मरने वाले 7 मरीजों में 4 बच्चे हैं। पूरी खबर पढ़ें …

निपाह वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल: कारगर रही तो इस बीमारी का यह पहला टीका होगा; 2018 में इससे केरल में 17 मौतें हुई थीं

1704959583 1708512836

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने निपाह वायरस की एक वैक्सीन की ह्यूमन टेस्टिंग शुरू कर दी है। अब तक इस वायरस की कोई वैक्सीन नहीं है। अगर इसकी टेस्टिंग सफल रही तो यह निपाह वायरस की पहली वैक्सीन होगी। डॉक्टर्स दवाओं के जरिए निपाह वायरस के लक्षणों को कंट्रोल करने की कोशिश करते रहे हैं। पूरी खबर पढ़ें …

चीन की रहस्यमयी बीमारी का संक्रमण भारत में नहीं :सरकार ने मीडिया रिपोर्ट्स को झूठा बताया

comp 131 117009991181701931497 1708512910

चीन की रहस्यमयी बीमारी के मरीज भारत में भी मिलने के दावों को सरकार ने झूठा बताया है। सरकार ने बयान जारी कर कहा है कि AIIMS दिल्ली से मिले सभी मामले साधारण निमोनिया के हैं। इनका चीन की बीमारी से कोई ताल्लुक नहीं है। जनवरी 2023 से AIIMS के माइक्रो बायोलॉजी डिपार्टमेंट में 611 सैंपलों की जांच हुई है, इनमें से किसी में भी माइको प्लाज्मा निमोनिया डिटेक्ट नहीं हुआ है। हेल्थ मिनिस्ट्री इस पर नजर बनाए हुए है। पूरी खबर पढ़ें …

खबरें और भी हैं…



Source link