आंखों की रोशनी कैसे बढ़ाएं? इन 5 हेल्दी जूस की डालें आदत, दिखेंगे कई फायदे


Healthy Juices For Eyes: दफ्तर के आजकल ज्यादातर काम कंप्यूटर, लैपटॉप और मोबाइल फोन में हो रहे हैं. कई लोग 9 घंटे की शिफ्ट में लगातार इन इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों से चिपके रहते हैं. जबकि कुछ लोग अपना समय काटने के लिए कोई मूवी, वेब सीरीज या सीरियल घंटों तक देखते रहते हैं. ऐसे लोग इस बात से अनजान होते हैं कि ज्यादा समय तक स्क्रीन पर रहने से उनकी आंखों की हेल्थ पर बुरे प्रभाव पड़ सकते हैं. जर्नल ऑफ फैमिली मेडिसिन एंड प्राइमरी केयर की एक स्टडी के मुताबिक, कंप्यूटर, लैपटॉप और मोबाइल की स्क्रीन पर ज्यादा समय बिताना आपके लिए घातक साबित हो सकता है. 

इसकी वजह से आपको ग्लूकोमा, मोतियाबिंद, सूखी आंखें, रतौंधी और आंखों से जुड़ी बाकी बीमारियां हो सकती हैं. हालांकि विटामिन, एंटीऑक्सिडेंट, तमाम पोषक तत्वों और मिनरल्स से भरपूर भोजन खाने से आंखों की गंभीर समस्याओं से बचा जा सकता है. आंखों को हेल्दी बनाए रखने के लिए एक बैलेंस और हेल्दी डाइट जरूरी है. इससे आंखों में इन्फेक्शन होने की संभावना को कम करने में मदद मिल सकती है. हम आपके लिए कुछ ऐसे पौष्टिक फलों और सब्जियों के जूस लेकर आए हैं, जिनको पीने से आपको आंखों को हेल्दी बनाए रखने में मदद मिलेगी.

1. संतरे का जूस

संतरे का जूस आंखों को हेल्दी रखने के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है. संतरा विटामिन C के मुख्य स्रोतों में से एक है. इस जूस को पीने से मोतियाबिंद के पैदा होने का जोखिम कम हो सकता है. आंखों के ब्लड वैसल्स की ताकत बनी रहती है. 

2. चुकंदर, गाजर और सेब का जूस

गाजर में मौजूद विटामिन A आपकी रतौंधी की समस्या को दूर करने और आंखों को हेल्दी रखने का काम करता है. चुकंदर में ल्यूटिन और जेक्सैंथिन होता है. ये मैकुलर और रेटिना के हेल्थ को बढ़ावा देने में मददगार होता है. सेब में बहुत सारे बायोफ्लेवोनॉइड्स होते हैं. ऐसा माना जाता है कि बायोफ्लेवोनॉइड्स आंखों की रोशनी में सुधार करते हैं. 

3. पालक,  ब्रोकली और काले का जूस

हरी पत्तेदार सब्जियां एंटीऑक्सिडेंट का एक अच्छा सोर्स होती हैं. ये आंखों की रोशनी को अच्छा बनाए रखने के लिए काफी जरूरी मानी जाती हैं. इसमें ल्यूटिन और जेक्सैंथिन की मौजूदगी होती है, जो हानिकारक किरणों के प्रभाव को कम करने में मददगार हैं. 

4. टमाटर का जूस

आंखों को जिन पोषक तत्वों की जरूरत होती है, उनमें से ज्यादा तत्व टमाटर के जूस में मौजूद रहते हैं. टमाटर में मौजूद विटामिन A, विटामिन C और पोटेशियम जैसे पोषक तत्व आंखों की रोशनी को बढ़ाने में मदद करते हैं. लाइकोपीन नाम का एक तत्व भी टमाटर में भी पाया जाता है. ये एक जरूरी एंटीऑक्सीडेंट है, जो उम्र से संबंधित मैक्यूलर डिजनरेशन से बचाता है.

5. नारियल का पानी

नारियल का पानी विटामिन C और बाकी जरूरी मिनरल्स के साथ-साथ अमीनो एसिड से भरपूर होता है. ये आंखों के प्रोटेक्टिव टिशूज को बेहतर बनाने में मदद करता है. नारियल के पानी का रोजाना सेवन ग्लूकोमा के खतरे को कम कर सकता है. 

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों को केवल सुझाव के रूप में लें, एबीपी न्यूज़ इनकी पुष्टि नहीं करता है. इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट और सुझाव पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें.

ये भी पढ़ें: पान का पत्ता यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में मददगार, इसके और भी कई फायदे, जानें कैसे करें सेवन?

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link