Astro Tips: यह माला पहनते ही दूर होगी आर्थिक परेशानी, पैसों की होगी जमकर बरसात


अभी जॉइन करें Telegram ग्रुप

वैजयंती माला हिंदू धर्म में बहुत महत्वपूर्ण होती है और इसे पूजा-पाठ, ध्यान और मन्त्र जप के लिए इस्तेमाल किया जाता है। वैजयंती माला के वैजयंती के बीजों का प्रयोग भगवान विष्णु, भगवान कृष्ण, भगवान राम, माँ लक्ष्मी, माँ दुर्गा और अन्य देवी-देवताओं के नामों का जप करने के लिए किया जाता है। इसे पहनने से उसके धारक के मन में शांति और समझदारी आती है।

वैजयंती माला का उपयोग पूजा-पाठ के दौरान अधिक से अधिक ध्यान एवं मन्त्र जप के लिए किया जाता है। इसके अलावा, इस माला का प्रयोग अशुभ ग्रह दशा के समय उसकी शांति और उससे आने वाली समस्याओं के निवारण के लिए भी किया जाता है।

अभी जॉइन करें Telegram ग्रुप

धर्म शास्त्रों में वैजयंती माला का उल्लेख करते हुए इसे शुभ माना जाता है। यह माला भगवान कृष्ण और भगवान विष्णु के प्रिय माला है।वैजयंती माला भगवान राम के सम्बन्ध में है। वैष्णव सम्प्रदाय के अनुसार, भगवान राम ने माता वैष्णो देवी को विवाह का वचन देते हुए अपनी वैजयंती माला उतारकर उन्हें भेंट की थी। इसी वजह से माता वैष्णो देवी को वैजयंती माला और वैजयंती पुष्प काफी प्रिय हैं। इस माला का उपयोग पूजा-पाठ, मन्त्र जप और ध्यान आदि में किया जाता है। यह माला भगवान कृष्ण और भगवान राम के दोनों के सम्बन्ध में बहुत महत्वपूर्ण मानी जाती है।

वैजयंती माला के धारण से न सिर्फ मन में नकारात्मक विचारों का अंत होता है, बल्कि इससे व्यक्ति को बहुत सारे ज्योतिष लाभ भी मिलते हैं। नीचे विस्तार से बताए गए हैं:

बुद्धि और विवेक शक्ति: वैजयंती माला के धारण से व्यक्ति की बुद्धि और विवेक शक्ति बढ़ती है। इससे व्यक्ति में समझदारी और सोचने की क्षमता में सुधार होता है।

धन लाभ: वैजयंती माला के धारण से धन की प्राप्ति होती है। यह माला धनवान बनाने के साथ-साथ धन की बचत में भी मदद करती है।

मानसिक शांति: वैजयंती माला के धारण से मानसिक शांति मिलती है। यह माला धारण करने से व्यक्ति में चिंता, तनाव और अशांति कम होती है।

स्वस्थ जीवन: वैजयंती माला के धारण से व्यक्ति का स्वास्थ्य भी सुधारता है। इससे व्यक्ति को शारीरिक तनाव, मानसिक तनाव, बीमारियों और दर्द से राहत मिलती है।

सुख-शांति: वैजयंती माला के धारण से व्यक्ति के घर में सुख शांति आती है.

Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. Timesbull.com इसकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें।

 




Source link