राजस्थान पेपर लीक मामला में टॉपर समेत 15 ट्रेनी सब इंसपेक्टर हिरासत में लिए गए – India TV Hindi


प्रतीकात्मक फोटो- India TV Hindi

Image Source : FILE
प्रतीकात्मक फोटो

राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा 2021 में आयोजित हुई उप-निरीक्षक और प्लाटून कमांडर भर्ती परीक्षा में लीक हुए प्रश्न पत्रों और डमी उम्मीदवारों का उपयोग करके एग्जाम पास करने के आरोप में टॉपर समेत 15 ट्रेनी सब इंसपेक्टर को हिरासत में लिया गया है। पुलिस के मुताबिक एसओजी(स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप) की एक टीम राजस्थान पुलिस अकादमी पहुंची और वहां ट्रेनिंग ले रहे संदिग्धों को हिरासत में लिया। अधिकारी ने बताया कि एक उप-निरीक्षक को अजमेर के किशनगढ़ में पुलिस प्रशिक्षण स्कूल से और दो अन्य को उनके गांवों से हिरासत में लिया गया।

‘पूछताछ के लिए लाया गया एसओजी मुख्यालय’

राजस्थान पुलिस के एटीएस और एसओजी के एडीजी वी. के. सिंह ने बताया कि राजस्थान लोक सेवा आयोग ने 2021 में उप-निरीक्षक और प्लाटून कमांडर भर्ती परीक्षा आयोजित की थी। पुलिस अधिकारी ने कहा, “यह जानकारी मिलने के बाद प्राथमिकी दर्ज कराई गई क कि एक आपराधिक गिरोह ने प्रश्न पत्र लीक किया और कुछ उम्मीदवारों की भर्ती कराई। 15 संदिग्ध प्रशिक्षुओं को पूछताछ के लिए एसओजी मुख्यालय लाया गया है।” जानकारी के अनुसार जांच एजेंसी को यह संदेह भी है कि परीक्षा से पहले प्रश्न पत्र प्राप्त करने के अलावा, कुछ ऐसे अभ्यर्थियों के लिए डमी उम्मीदवारों की व्यवस्था की गई थी जिनमें खुद परीक्षा देने की योग्यता नहीं थी।

यूपी कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में दो लोगों को एसटीएफ ने किया गिरफ्तार

हाल में ही उत्तर प्रदेश पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में यूपी एसटीएफ ने दो लोगों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार किए गए लोगों के नाम क्रमश: अजय सिंह और सोनू सिंह यादव हैं। दोनों आरोपी प्रयागराज के रहने वाले हैं। अजय सिंह चौहान तेज प्रताप सिंह चैहान प्रयागराज के फाजिलपुर का निवासी है। वहीं, सोनू सिंह यादव पुत्र गुलाब सिंह यादव प्रयागराज के करौंजा गांव की निवासी है। 

इनपुट- भाषा

ये भी पढ़ें- पुलिस कांस्टेबल के पदों पर यहां निकली भर्ती, कैसे होगा सेलक्शन और कब से शुरू होंगे आवेदन; जानें सबकुछ


 

Latest Education News





Source link