World Sleep Day 2023: जानें अच्‍छी नींद क्‍यों है जरूरी और क्‍या हैं इसके फायदे

worldsleepday 1678903251


वर्ल्‍ड स्‍लीप डे 2023 इस बार 17 मार्च शुक्रवार को मनाया जाएगा। इस मौके पर जानिए अच्‍छी नींद करना क्‍यों हर इंसान के लिए जरूरी है और इसके फायदे क्‍या हैं। इसके साथ ही जानिए अगर अच्‍छी नींद नहीं करेंगे तो क्‍या खतरे हैं?

India

oi-Bhavna Pandey

Z

Google Oneindia News
loading
sleep


World
Sleep
Day
2023
Benefits:

नींद
हमारे
लिए
बहुत
जरूरी
है
लेकिन
ये
हम
जानते
हुए
भी
अपनी
भागती-
दौड़ती
जिंदगी
के
कारण
अपनी
पूरी
नींद
नहीं
कर
पाते।
जिसकी
वजह
से
बीमारियों
का
शिकार
हो
जाते
हैं।
खराब
दिनचर्या,
गलत
खानपान,
मेंटल
स्‍ट्रेस
के
कारण
कम
नींद
के
कारण
कई
बीमारियों
की
गिरफ्त
में
व्‍यक्तिआ
रहे
है।
स्‍ट्रेस
के
साथ
कम
नींद
का
सेहत
पर
सबसे
बुरा
प्रभाव
पड़
रहा
है
इसीलिए
नींद
पूरी
करना
बेहद
जरूरी
है।
वर्तमान
समय
में
अकिकांश
युवा
इन्सोमनिया
यानी
नींद
की
कमी
से
परेशान
हैं।

sleep


नींद
का
महत्‍व
समझाने
के
लिए
इस
दिन
की
गई
शुरूआत

पहले
बता
दें
मनुष्‍यों
को
नींद
का
महत्‍व
समझाने
के
लिए
वर्ल्‍ड
स्‍पीप
सोसाइटी
ने
वर्ल्‍ड
स्‍लीप
डे
मनाने
का
सराहनीय
कदम
उठाया
था।
14
मार्च,
2008
को
पहला
वि
वर्ल्‍ड
स्‍पीप
डे
की
शुरूआत
हुई
थी।
इस
दिन
की
की
शुरूआत
का
लक्ष्य
और
उद्देश्य
स्वस्थ
रहने
के
लिए
पर्याप्त
नींद
लेने
की
आवश्यकता
के
बारे
में
जागरूकता
फैलाना
और
नींद
से
संबंधित
मुद्दों
पर
काम
करने
के
लिए
अंतरराष्ट्रीय
और
लोकल
संस्‍थाओं
को
एक
साथ
लाना
रहा
है।
आइए
वर्ल्‍ड
स्‍लीप
डे
पर
जानिए
क्‍या
हैं
अच्‍छी
नींद
के
फायदे
और
नींद
नहीं
पूरी
होती
है
तो
क्‍या
नुकसान
हो
सकता
है?

  • सबसे
    पहले
    अगर
    आप
    सेहतमंद
    रहना
    चाहते
    हैं
    तो
    आपको
    हर
    दिन
    तो
    रोजाना
    8
    घंटे
    जरूर
    सोना
    चाहिए।
  • नींद
    विश्राम
    की
    एक
    नेचुरल
    पोजिशन
    है।
    यह
    मांसपेशियों
    की
    गति
    और
    अन्य
    अप्रयुक्त
    शरीर
    इंद्रियों
    को
    दबाकर
    मन
    और
    शरीर
    को
    पुनर्जीवित
    करने
    और
    खुद
    को
    फिर
    से
    ऊर्जा
    से
    भर
    देती
    हैं।
  • नींद
    के
    कई
    चरण
    यानी
    स्‍टेज
    होते
    हैं,
    प्रत्येक
    चरण
    का
    हमारे
    स्‍वास्‍थ्‍य
    से
    जुड़ी
    कई
    लाभ
    होते
    हैं।
  • इन
    चरणों
    अगर
    एक
    भी
    मिस
    हो
    जाता
    है
    तो
    इंसान
    शरीरिक
    या
    मानसिक
    रूप
    से
    बीमार
    तक
    हो
    जाता
    है।
  • अगर
    हम
    पूरी
    नींद
    नहीं
    करते
    है
    तो
    ये
    हमारे
    शरीर
    के
    हर
    अंग
    को
    प्रभावित
    करती
    है।
  • हालांकि
    हर
    कोई
    नींद
    का
    अनुभव
    करता
    है,
    लेकिन
    जब
    हम
    सोते
    हैं
    तो
    हर
    व्यक्ति
    की
    अलग-अलग
    धारणा
    होती
    है।
  • कुछ
    विशेषज्ञों
    के
    अनुसार,
    नींद
    अस्थायी
    कोमा
    की
    स्थिति
    है
    जो
    शरीर
    को
    चेतन
    और
    अचेतन
    दोनों
    ही
    स्थितियों
    को
    दर्शाती
    है।
  • पर्याप्त
    नींद

    लेने
    पर
    आपकी
    याददाश्त
    कमजोर
    और
    आप
    धीमे
    हो
    सकती
    है।
  • अगर
    आपकी
    नींद
    अच्‍छी
    होती
    तो
    आप
    अपने
    ऑफिस
    में
    अच्छा
    परफॉर्म
    करता
    है।
    क्‍योंकि
    जब
    आप
    थके
    हुए
    होते
    हैं
    तो
    सही
    से
    परफॉर्म
    नहीं
    कर
    पाते।
  • अच्‍छी
    नींद
    करने
    पर
    दिल
    के
    वेसल्‍स
    मजबूत
    होते
    हैं
    अगर
    नींद
    नहीं
    पूरी
    होती
    है
    कि
    दिल,
    किडनी
    की
    बीमारियां,
    ब्लड
    प्रेशर
    और
    स्ट्रोक
    तक
    समस्‍या
    हो
    जाती
    है
  • सोने
    से
    इंसान
    की
    खूबसूरती
    में
    सचमुच
    निखार
    आता
    है
    सोने
    पर
    सर्कुलेटरी
    सिस्टम
    शरीर
    में
    ब्लड
    का
    फ्लो
    बढ़ा
    देता
    है,
    जिससे
    त्वचा
    में
    ग्लो
    दिखती
    है।
  • कम
    नींद
    करने
    पर
    आपका
    अचानक
    वजन
    भी
    बढ़
    जाता
    है।
  • नींद
    सुंदरता
    और
    याददाश्त
    बढ़ाने
    के
    साथ
    आपको
    जवान
    रखती
    है
    क्‍योंकि
    सोते
    समय
    शरीर
    में
    सेल
    खुद
    की
    मरम्मत
    और
    पुनर्निर्माण
    करते
    हैं।
  • कम
    नींद
    करने
    पर
    चेहरे
    पर
    झुर्रियां,
    आंख
    के
    नीचे
    डार्क
    सर्कल
    और
    बुढ़ापा
    भी
    जल्‍दी
    आता
    है।
  • बता
    दें
    पहली
    स्लीप
    लैब
    1925
    में
    की
    गई
    थी
    स्‍थापित
    की
    गई
    थी
  • नींद
    पर
    शोध
    करने
    के
    लिए
    पहली
    स्लीप
    लैब
    डॉ.
    नथानिएल
    क्लेटमैन
    द्वारा
    खोली
    गई
    है,
    जिन्हें
    स्लीप
    रिसर्च
    के
    संस्थापक
    के
    रूप
    में
    जाना
    जाता
    है
  • 1960
    में
    नींद
    की
    पहली
    गोली
    लिब्रियम
    का
    व्यावसायीकरण
    किया
    गया
    है।

World Sleep Day 2023: क्‍यों मनाया जाता है 'वर्ल्ड स्लीप डे', जानें इतिहास और महत्वWorld
Sleep
Day
2023:
क्‍यों
मनाया
जाता
है
‘वर्ल्ड
स्लीप
डे’,
जानें
इतिहास
और
महत्व

Recommended
Video

hqdefault

H3N2
Virus
पर
स्वास्थ
मंत्रालय
की
Advisory,
जानें
Symptoms,
Dos
And
Don’ts
|
वनइंडिया
हिंदी

English summary

World Sleep Day 2023: why good sleep is important and what are its benefits



Source link