Ukraine Russia War: क्या नाटो रूस पर करेगा हमला, कुछ ही देर में लिया जाएगा फैसला! उच्च स्तरीय मीटिंग से पहले जानें ये बातें – nato will decide to start war on russia at 2 30 pm know what will happen in the high level meeting – News18 हिंदी

NATO 2


हाइलाइट्स

बैठक भारतीय समय अनुसार दोपहर 2.30 बजे शुरू होगी
पोलैंड ने नाटो के आर्टिकल 4 के तहत बैठक का अनुरोध किया था
अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि ऐसा हो सकता है कि यह मिसाइल रूस ने न दागी हो

ब्रुसेल्स. यूक्रेन-रूस युद्ध (Ukraine-Russia War) के बीच नाटो सदस्य देश पोलैंड में गिरी एक रूसी मिसाइल (poland missile attack) के बाद दुनिया की निगाहें अब नाटो पर टिक चुकी हैं. यूक्रेनी सीमा से लगभग 6.4 किलोमीटर पश्चिम में मौजूद प्रेज़वोडो गांव में गिरी इस मिसाइल ने दो लोगों की जान ले ली. जिसके बाद से नाटो के रूस पर हमले की आशंका अब तूल पकड़ने लगी है. मिसाइल अटैक के बाद पोलैंड ने नाटो के आर्टिकल 4 के तहत एक इमरजेंसी बैठक का अनुरोध किया था जिसमें आज बड़े फैसले लिए जा सकते हैं.

भारतीय समय अनुसार 2.30 बजे शुरू होगी मीटिंग
न्यूज़ एजेंसी रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक एक यूरोपीय राजनयिक और दो नाटो अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि यूक्रेनी सीमा के पास पूर्वी पोलैंड में एक विस्फोट पर चर्चा करने के लिए नाटो एक आपातकालीन बैठक कर रहा है. यह बैठक भारतीय समय अनुसार दोपहर 2.30 बजे शुरू होगी जहां रूस पर हमले से संबंधित बड़े फैसले लिए जा सकते हैं. साथ ही नाटो ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि ब्रुसेल्स में नाटो राजदूतों की सभा की अध्यक्षता महासचिव जेन्स स्टोलटेनबर्ग करेंगे, जो शाम 5 बजे के आसपास एक समाचार सम्मेलन भी आयोजित करेंगे.

क्या रूस पर हमला करेगा नाटो?
यदि यह निर्धारित किया जाता है कि मास्को मिसाइल दागने के लिए दोषी था, तो यह नाटो के सामूहिक रक्षा के सिद्धांत के अनुरूप आर्टिकल 5 को लागू कर सकता है. नाटो के संविधान के आर्टिकल 5 के तहत पश्चिमी गठबंधन के सदस्यों में से एक पर हमले को सभी पर हमला माना जाता है. आर्टिकल 5 लागू होने के बाद सभी सदस्य 30 देश पूरी क्षमता के साथ दुश्मन पर हमला बोलते हैं.

आर्टिकल 4 के तहत नाटो की बैठक
रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के तहत पोलैंड ने नाटो के आर्टिकल 4 के तहत बैठक का अनुरोध किया था. अब इस बैठक में पोलैंड सदस्य देशों के साथ आर्टिकल 5 को लागू करने के लिए तय मानकों पर एविडेंस दे सकता है. आर्टिकल 4 के अनुसार कोई भी देश खतरे की स्थिति में ऐसी बैठक बुला सकता है जिसमें आर्टिकल 5 को लागू करने पर बात की जा सकती हो. अगर पोलैंड यह साबित करने में सफल हो गया कि यह मिसाइल हमला जानबूझकर रूस की ओर से किया गया तो नाटो पूरी ताकत से रूस पर हमला बोल सकता है.

बाइडन ने हमला न करने का दिया संकेत
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि ऐसा हो सकता है कि यह मिसाइल रूस ने न दागी हो. रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के अनुसार युद्ध में यूक्रेन भी बड़े पैमाने पर रूस निर्मित मिसाइल और वेपन का इस्तेमाल कर रहा है. ऐसे में आशंका है कि यूक्रेन से ही यह मिस फायर हुआ हो. हालांकि राष्ट्रपति जो बाइडन ने मास्को के आक्रमण की शुरुआत से ही कहा है कि वॉशिंगटन नाटो भागीदारों की रक्षा के लिए अपनी अनुच्छेद 5 प्रतिबद्धताओं को पूरा करेगा.

Tags: NATO, Poland, Russia ukraine war



Source link