‘रूसी विमान ने ऑन-बोर्ड हथियारों का नहीं किया उपयोग’, अमेरिकी ड्रोन मार गिराने के मामले में रूस का बड़ा बयान

russia 1678905785


रूस ने स्पष्ट करते हुए कहा कि हमारा विमान हथियारों का उपयोग नहीं किया। साथ ही मानव रहित विमान के संपर्क में भी नहीं आया। सुरक्षित रूप से लौट आया।

International

oi-Sushil Kumar

2Q==

Google Oneindia News
loading
अमेरिकी ड्रोन मार गिराने के मामले में रूस का बड़ा बयान


Russia-USA:

रूसी
लड़ाकू
विमान
और
अमेरिकी
ड्रोन
के
बीच
ब्लैक
सी
में
टक्कर
के
बाद
दोनों
देशों
के
बीच
तनाव
बढ़
गया
है।
वहीं
इस
बीच
रूसी
रक्षा
मंत्रालय
ने
बड़ा
बयान
देते
हुए
कहा
कि
ड्यूटी
पर
मौजूद
वायु
रक्षा
बल
के
लड़ाकू
विमानों
ने
घुसपैठिए
की
पहचान
करने
के
लिए
हाथापाई
की।
मास्को
समयानुसार
करीब
09:30
बजे
MQ-9
अमेरिकी
ड्रोन
अनियंत्रित
होकर
पानी
की
सतह
से
टकरा
गया।
जिसके
बाद
ड्रोन
काला
सागर
में
गिर
गया।

साथ
ही
रूसी
रक्षा
मंत्रालय
ने
कहा
कि
रूसी
विमान
ने
ऑन-बोर्ड
हथियारों
का
उपयोग
नहीं
किया
और
मानव
रहित
विमान
के
संपर्क
में
भी
नहीं
आया।
सुरक्षित
रूप
से
अपने
घरेलू
हवाई
क्षेत्र
में
लौट
आया।
उन्होंने
कहा
कि
14
मार्च
की
सुबह
काला
सागर
के
ऊपर
उड़ते
हुए
एक
अमेरिकी
एमक्यू-9
ड्रोन
का
पता
लगाया।
रूस
ने
अमेरिकी
ड्रोन
को
मार
गिराने
से
इनकार
किया
है।

Recommended
Video

hqdefault

Russia-USA
Tension:
अमेरिकी
ड्रोन
और
रूसी
फाइटर
जेट
में
टक्कर,
दोनों
देशों
में
तनाव
|
वनइंडिया
हिंदी

वहीं,
अमेरिका
ने
इस
घटना
पर
कड़ी
आपत्ति
जताई
है।
अमेरिका
का
कहना
है
कि
रूस
ने
हमारे
ड्रोन
को
मार
गिराया
है।
अमेरिकी
सेना
की
ओर
से
कहा
गया
है
कि
इस
टक्कर
के
चलते
हमे
मजबूरन
अपने
ड्रोन
को
नीचे
मार
गिराना
पड़ा।
रिपोर्ट
के
अनुसार
ड्रोन
अंतरराष्ट्रीय
एयरस्पेस
पर
रूटीन
ऑपरेशन
पर
था,
इसी
दौरान
दो
रूसी
जेट
ने
इसका
रास्ता
रोकने
की
कोशिश
की।
रूस
ने
यह
असुरक्षित
और
अव्यवसायिक
हरकत
की
है,
जिसकी
वजह
से
एक
फाइटर
जेट
गिरने
से
बचा
और
एक
ड्रोन
क्रैश
हो
गया।

बताया
जा
रहा
है
कि
रूसी
लड़ाकू
विमान
Su-27
और
यूएस
MQ-9
ड्रोन
आपस
में
टकरा
गए,
जिसकी
वजह
से
अमेरिकी
सेना
को
ड्रोन
को
अंतरराष्ट्रीय
समुद्र
में
गिराना
पड़ा।
अमेरिकी
सेना
ने
कहा
कि
रूसी
Su-27
लड़ाकू
विमान
ने
एमक्यू-9
रीपर
को
रोका
और
इसके
प्रोपेलर
को
टक्कर
मारी,
जिसकी
वजह
से
ड्रोन
क्रैश
हो
गया।
यह
निंदनीय
घटना
है।


यह
भी
पढ़ें-

क्या
पुतिन
यूक्रेन
की
लड़ाई
हार
सकते
हैं,
क्या
रूस
टूट
सकता
है?

  • loading
    अमेरिका के दो दुश्मनों के बीच होने वाला है खतरनाक समझौता, इजरायल के लिए खड़ी हो सकती है परेशानी
  • loading
    चीन के सामने पहली बार विध्वंसक हथियारों के साथ आया ताइवान, इस खतरनाक फाइटर जेट को देख ड्रैगन हैरान
  • loading
    भारत का तेजस दुनियाभर में मचा रहा धूम, अब अमेरिका भी मुंहमांगी कीमत देने को है तैयार
  • loading
    चीन ने खूब दिखाए तेवर…उड़ाए 100 फाइटर जेट, दागे मिसाइल, टस से मस नहीं हुआ ताइवान
  • loading
    B-21 Jet: भारत के पार्टनर ने बनाया सबसे शक्तिशाली स्टील्थ बॉम्बर, पूरी दुनिया में अब तक नहीं है ऐसा फाइटर जेट
  • loading
    फिलीपींस के बाद अब ये मुस्लिम देश भारत से खरीदेगा ब्रह्मोस मिसाइल, मोदी सरकार का मास्टरस्ट्रोक
  • loading
    अब नहीं चलेगी चीन की दादागिरीः भारत के एक और दोस्त ने तैयार कर लिया घातक लड़ाकू विमान
  • loading
    फाइटर जेट में उड़ान भरते दिखें बोरिस जॉनसन, बनाया सेल्फी वीडियो
  • loading
    H-20 Bomber: चीनी ड्रैगन ने बनाया हवा की ताकत से उड़ने वाला बॉम्बर, हिमालय में भारत को टेंशन
  • loading
    चीन के 29 युद्धक विमानों ने की घुसपैठ, गुस्साए ताइवान ने दूर तक खदेड़ डाला
  • loading
    भारतीय वायुसेना को मिलेंगे 114 नए फाइटर जेट्स, 96 विमान बनेंगे भारत में ही
  • loading
    चीनी लड़ाकू विमान ने P-8 का रोका रास्ता तो भड़का ऑस्ट्रेलिया, कहा- आगे बर्दाश्त नहीं करेंगे

English summary

Russian aircraft did not use on-board weapons Russia big statement shooting down us drone MQ-9



Source link