Pakistan Economic Crisis: बांग्लादेश और नेपाल जैसे देशों के सामने भी कांप रहा पाकिस्तानी रुपया, इस तरह हुआ तबाह

pic


नई दिल्ली: पाकिस्तान का हाल बेहाल है। पाकिस्तान में महंगाई (Pakistan Economic Crisis) का ऐसा महाविस्फोट हुआ है कि लोगों के लिए रोजमर्रा की चीजें खरीदना भी मुश्किल हो गया है। आर्थिक मदद के लिए शहबाज शरीफ की सरकार पूरी दुनिया के सामने हाथ फैला रही है। लेकिन कहीं से भी पाकिस्तान को राहत नहीं मिल रही है। डॉलर के मुकाबले पाकिस्तान करेंसी की कीमत लगातार कम होती जा रही है। पाकिस्तान में विदेशी मुद्रा भंडार की भी कमी है। पाकिस्तान का हाल श्रीलंका की तरह ही होने लगा है। श्रीलंका में भी खानेपीने की चीजों के दाम आसमान पर पहुंच गए थे। लोग बाजारों में झगड़ा कर रहे थे। ठीक इसी तरह का माहौल अब पाकिस्तान में भी नजर आ रहा है। महंगाई ने पाकिस्तान में पिछले 48 वर्षों का रेकॉर्ड तोड़ दिया है। लोगों को दूध और चावल तक खरीदना मुश्किल हो गया है। आईएमएफ से बेलआउट पैकेज (IMF Bailout Package) नहीं मिलने के बाद अब पाकिस्तान पर दिवालिया (Bankrupt) होने की तलवार लटक रही है। यहां महंगाई से लोगों का जीना मुहाल है। भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान में राजनीतिक अस्थिरता का माहौल, विदेशी कर्ज का बोझ और विदेशी मुद्रा भंडार में भारी कमी से अर्थव्यवस्था चौपट हो गई है।

navbharat timesजितने में यहां एक झोला आलू लेंगे उतने में वहां आधा किलो मिलेगा, पाकिस्तान में महंगाई के टूटे सारे रेकॉर्ड

पाकिस्तान की करेंसी का बुरा हाल

पाकिस्तान की करेंसी का हाल काफी बुरा है। पाकिस्तानी करेंसी का बहुत ही बुरा हाल है. पाकिस्तानी रुपया (Pakistani Rupees) डॉलर के मुकाबले 230.93 रुपये के नीचले स्तर पर पहुंच गया है। पिछले तीन महीनों में पाकिस्तानी रुपये के दाम में डॉलर के मुकाबले 12 रुपये से अधिक की गिरावट दर्ज की गई है। पिछले साल अक्टूबर में डॉलर के मुकाबले पाकिस्तानी रुपये की कीमत 217.79 आंकी गई थी। पड़ोसी देशों से तुलना करें तो पाकिस्तान की करेंसी का हाल नेपाल और बांग्लादेश की करेंसी से भी खराब हो गया है। अभी मौजूदा वक्त में 1 डॉलर के मुकाबले पाकिस्तानी रुपये की कीमत 217.79 है। वहीं एक डॉलर के मुकाबले श्रीलंका रुपया 363.11 पर है, नेपाली रुपया 130.34 पर, बांग्लादेशी टका 103.34 पर और भारतीय रुपया 81.62 पर है।

navbharat timesPakistan Fuel Crisis: महाकंगाल पाकिस्‍तान में पेट्रोल खत्‍म, एयर एंबुलेंस ठप, वर्जिन एयरलाइन ने भी बोरिया बिस्‍तर समेटा

बंदरगाहों पर फंसे कंटेनर

पाकिस्‍तान के बंदरगाहों पर हजारों की तादाद में कंटेनर फंसे हुए हैं जिसमें कई बेहद जरूरी सामान लदे हुए हैं। पाकिस्‍तान इस समय विदेशी मुद्रा भंडार की भारी कमी से जूझ रहा है। इसको देखते हुए आयात पर कई तरह के प्रतिबंध लगा दिए गए हैं। इससे अब पाकिस्‍तान में अब भारी तादाद में बेरोजगारी पैदा होने का खतरा बढ़ गया है। पाकिस्‍तान में डॉलर का रिजर्व 3 अरब डॉलर के आसपास पहुंच गया जो 1998 के बाद सबसे कम है। पाकिस्‍तान में डॉलर संकट की वजह से कई उद्योग जैसे स्‍टील, कपड़ा उद्योग और दवा उद्योग लगभग बंद हो गए हैं। इससे हजारों की तादाद में फैक्ट्रियों में ताला लग गया है। इससे देश में भारी संख्‍या में बेरोजगारी का संकट पैदा हो गया है।



Source link