अब बिना बिजली -गैस के इस स्टोव से बनाएं खाना, बचेंगे हर महीने 1100 रूपये, जाने कैसे? – Times Bull

befunky 2023 4 1 13 19 35


अभी जॉइन करें Telegram ग्रुप

नई दिल्ली: Solar Stove: बढ़ती महंगाई के कारण LPG की कीमतों में भी लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है जिससे आम लोग काफी परेशान हैं। अगर आप भी इस कारण से परेशान तो आज हम आपको इससे निजात दिलाने जा रहे है । दरअसल, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सरकार ने लोगों को महंगाई से राहत दिलाने के लिए एक अलग स्टोव उपलब्ध करा रही है। यह स्टोव, सरकारी तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (IOCL) द्वारा बनाया गया है जिसका नाम ‘सूर्य नूतन’ है। इस सोलर स्टोव को चलाने के लिए न आपको किसी गैस की जरूरी पड़ेगी और न ही बिजली की। अब आप लोग सूरज की रोशनी में इस सोलर स्टोव का इस्तेमाल कर सकते है यानी अब बिना सिलेंडर भरवाएं बिना किसी टेंशन के खाने का मजा ले सकते हैं।

होगी रुपयों की भारी बचत

अभी जॉइन करें Telegram ग्रुप

आपको बता दें कि दिल्ली में रसोई घर वाले एलपीजी सिलेंडर की कीमत लगभग 1103 रुपये है। लेकिन अगर आप इस solar stove का इस्तेमाल करते है तो आपको खाना पकाने के लिए कुछ खर्चा नहीं करना पड़ेगा। इस स्टोव के वजह से आप अपने 1100 रुपये की बचत कर सकते हैं। और इन रुपयों को सेव कर अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।

धूप में रखने की नहीं पड़ेगी जरूरत

इसके फीचर की बात करें तो आपको इसे धूप में रखने की जरूरत नहीं पड़ेगी। यह स्टोव दो यूनिट्स से मिलकर बना होता है, जिसमें कुकिंग यूनिट किचन के अंदर रखा जा सकता है और दूसरे यूनिट को छत पर धूप में रखा जा जाता है। इससे, स्टोव को धूप में रखने और हटाने की झंझट नहीं होगी।

यहां तक इसका इस्तेमाल रात में भी कर सकते हैं क्योंकि दिन में स्टोर एनर्जी रात तक रहती है। जिस वजह से आप बिना किसी समस्या के रात में भी आराम से खाना बना सकते हैं।

कितनी है इसकी कीमत

Surya Nutan Solar Stove के प्राइस की बात करें तो इसकी शुरुआती कीमत 12 हजार रुपये से है। इस स्टोव के दो वेरिएंट हैं- बेस वेरिएंट जो 12 हजार रुपये और टॉप वेरिएंट जिसकी कीमत 23 हजार रुपये है। वहीं मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सरकार इसे प्रमोट करने के लिए सब्सिडी भी दे सकती है। इस स्टोव को अभी नहीं खरीदा जा सकता है, लेकिन उम्मीद है कि इसे मार्केट में जल्द ही उपलब्ध कराया जाएगा। जिसके बाद आप महंगाई को भूल इसका भरपूर इस्तेमाल कर सकेंगे।




Source link