Bank Update: एक व्यक्ति ज्यादातर कितने बैंक अकाउंट रख सकता है, जरूरी नियम जानकर उड़ जाएंगे होश – Times Bull

bank account


अभी जॉइन करें Telegram ग्रुप

नई दिल्लीः दौड़ती भागती दुनिया में वित्तीय लेन देने के लिए अब कैश का होना जरूरी नहीं रह गया है। अब जमाना यहां तक पहुंच गया है कि मोबाइल से ही लोग ट्रांजैक्शन कर देते हैं, जिससे किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं होती है। देशभर में अब बैंकों की ओर से भी कई प्रकार के अकाउंट ओपन करवाए जा रहे हैं, जिसका फायदा आप भी आराम से उठा सकते हैं।

आपने अमूमन देखा होगा कि ज्यादातर लोग सेविंग के हिसाब से ही अपना अकाउंट ओपन कराते हैं, जिससे उनकी रकम सुरक्षित रहे और उसपर सालाना ब्याज भी मिलता रहे। इस बीच क्या आपको पता है कि एक आम नागरिक कितने बैंक अकाउंट रख सकता है। अगर पता है तो कोई बात नहीं, ना तो फिर जानने के लिए पूरा आर्टिकल ध्यान से पढ़ने की जरूरत होगी।

अभी जॉइन करें Telegram ग्रुप

जानिए बैंक अकाउंट से जुड़ी मुख्य बातें

क्या आप जानते हैं कि देशभर में अब कितने बैंक अकाउंट हैं, जो लोगों का दिल जीत रहे हैं। आम नागरिक से लेकर नौकरी पेशा और बिजनेस मैन के लिए तरह-तरह के अकाउंट सर्विस बैंकों की ओर से संचालित की जा रही है। इसें सेविंग अकाउंट, करंट अकाउंट, सैलरी अकाउंट और ज्वॉइंट अकाउंट आदि शामिल किए गए हैं।

इसमें सेविंग अकाउंट लोगों का मुख्य खाते की लिस्ट में शामिल होता है, जिसे हर कोई ओपन करवाना चाहता हैं। इतना ही नहीं यह खाता प्राथमिक अकाउंट की श्रेणी में भी आता है। लोग इसमें मोटी मनी जमा कर बैंक से अच्छा ब्याज भी प्राप्त कर लते हैं।

इसके अलावा करंट अकाउंट वो लोग ओपन करवाते हैं, जो कारोबार से जुड़े होते और लेनदेन भी काफी ज्यादा रहता है। इसके साथ ही सैलरी अकाउंट वो लोग ओपन कराते हैं जिनकी प्रति महीने वेतन आता है। रेगुलर सैलरी अकाउंट में आने पर मिनिमम बैलेंस रखना कोई आवश्यक नहीं होती है। इतना ही नहीं नौकरी बदलते समय आप अपना अकाउंट भी करवा सकते हैं। यह अस्थाई अकाउंट होता है।

बैंक अकांट की संख्या

जानकारी के लिए बता दें कि पति-पत्नी के लिए अलग-अलग अकाउंट ओपन करवाने जरूरी नहीं होते हैं। पति-पत्नी संयुक्त खाता भी ओपन करवाकर अपने काम कर सकते हैं। इसके साथ ही कोई व्यक्ति अपने कितने बैंक खाता रख सकता है। इसके लिए आरबीआई या किसी बैंक की ओर से कोई सीमा तय नहीं की गई है।

 



Source link