Arshad Warsi: ऐक्टर अरशद वारसी ने ऐसा क्या किया कि शेयर बाजार में लग गया बैन, जान लें किस नियम से हुई कार्रवाई

pic


नई दिल्ली: SEBI ने शेयरों की हेराफेरी के मामले में बॉलीवुड अभिनेता अरशद वारसी (Arshad Warsi) पर एक्शन लिया है। मार्केट रेगुलेटर (The Securities and Exchange Board of India) ने वारसी और उनकी पत्नी मारिया गोरेटी (Maria Goretti) पर मार्केट में कारोबार करने पर बैन लगा दिया है। यह कदम सोशल मीडिया के जरिए कंपनी के शेयरों को खरीदने का सुझाव देने वाले भ्रामक वीडियो डालने के बाद लिया गया। पंप एंड डंप करने के मामले में SEBI ने यह कड़क एक्शन लिया है। उसने शार्पलाइन और साधना के शेयरों में पंप एंड डंप एक्टिविटी का पता लगाया है। इसमें यूट्यूब (You Tube) पर छोटे निवेशकों को भ्रमित करने के लिए प्रोमोशनल वीडियो बनाकर पंप एंड डंप किया जाता था। ऐसा करके निवेशकों को 50 करोड़ रुपये से अधिक की चपत लगाई गई है।

Navbharat Timesरॉकेट की रफ्तार से भाग रहा अडानी का ये शेयर, दो दिन में 30 फीसदी से ज्यादा का आया उछाल, निवेशक हुए मालामाल

इस तरह चल रहा था खेल

SEBI को इस तरह की शिकायतें मिल रही थीं, कि साधना ब्रॉडकास्ट के स्टॉक्स की कीमतों में हेराफेरी की जा रही है। जो यूनिट्स ये काम कर रहे हैं, वे शेयरों को निकाल भी रहे हैं। इस मामले की जांच करते हुए सेबी ने गुरुवार को अभिनेता (Arshad Warsi), उनकी पत्नी और साधना ब्रॉडकास्ट के प्रमोटर्स समेत 44 यूनिट्स को सिक्योरिटी मार्केट में कारोबार करने से बैन कर दिया है। सेबी को इस बारे में शिकायतें मिल रही थी कि भ्रामक यूट्यूब वीडियो (You Tube Video) के जरिए इन्वेस्टर्स को लालच दिया जा रहा था। रेगुलेटर (SEBI) ने बीते साल अप्रैल-सितंबर के दौरान के उन मामलों की जांच शुरू कर की थी जिनमें सामने आया कि वीडियो डाले जाने के बाद साधना ब्रॉडकास्ट के शेयरों में उछाल आया और प्रमोटर्स ने खूब पैसा बनाया।

Navbharat Timesअरबपति वॉरेन बफेट ने सिर्फ दो शेयरों से कमाए 350000 करोड़, अब दुनिया को बताया कमाई का ये बड़ा रहस्य

क्या है नियम

सेबी (SEBI) की गाइडलाइन के मुताबिक, सोशल मीडिया पर किसी भी तरह से लोगों को किसी कंपनी के शेयर को खरीदने या बेचने के लिए प्रोत्साहित करना पंप एंड डंप एक्टिविटी मानी जाती है। किसी को भी ऐसा करने की अनुमति नहीं है। अरशद वारसी (Arshad Warsi) पर भी इसी वजह से सेबी ने कार्रवाई की है। आरोप है कि अरशद वारसी और उनकी पत्नी सोशल मीडिया के माध्यम से कंपनी के शेयरों को खरीदने और बेचने का सुझाव देने वाले भ्रामक वीडियो बना रहे थे। प्रमोशनल वीडियो बनाकर छोटे निवेशकों को भ्रमित किया जा रहा था। इससे निवेशकों को करोड़ों का नुकसान हुआ है।



Source link