Thyroid की वजह से कहीं बीमार तो नहीं हो गई हैं आपकी आंखें

81e9db980b69d5b9b92f07b58baa8a931676302149602579 original


Eye Disease: आंखें बॉडी का सबसे अधिक सेंसटिव पार्ट हैं. यदि आपको एलर्जी है तो इसका प्रभाव आंखों पर पड़ता है. शुगर तो इसका सीधा असर आंखों पर होता है. कमजोरी आ रही है तो आंखों की रोशनी कमजोर होती है. ऐसे ही अलग अलग तमाम फैक्टर आंखों को परेशान करते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि थाइराइड के गड़बड़ होने से आंखों के बीमार होने का सीधा कनेक्शन है. डॉक्टरों का कहना है कि बॉडी में हाइपरथायरायडिज्म की समस्या बनी हुई है तो इससे आंखें सीधे तौर पर प्रभावित हो सकती हैं. इससे आंखे बीमार हो सकती हैं और उनको गंभीर नुकसान हो सकता है. इसी के बारे में जानने की जरूरत है.  

थाइराइड से हो सकता है अंधापन

थाइराइड की गंभीरता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि लंबे समय तक थाइराइड अनियंत्रित है तो इससे ब्लाइंडनेस की समस्या भी हो सकती है. विशेषज्ञों का कहना है कि आमतौर पर मोनोपोज की अवस्था से गुजरने वाली महिलाओं में आंखों के सूखेपन की समस्या झेलनी पड़ती है. थाइराइड से आंखों में ऑटो इम्यून डिसआर्डर होता है. इसमें थायराइड रिसेप्टर्स के खिलाफ ऑटोएंटीबॉडी, ऑर्बिटल फाइब्रोब्लास्ट को एक्टिव कर देता है. इससे यह आंखों की स्वस्थ्य टिश्यू को नुकसान पहुंचाता है. परेशानी बढ़ने पर यही अंधापन का कारण बनती है. आंखों में यदि कोई समस्या लग रही है तो तुरंत डॉक्टर को दिखाने की जरूरत है. 

क्यों हो जाती हैं ड्राई आईज

बचपन में आंखों के सूखेपन की समस्या बेहद कम देखने को मिलती है. उम्र बढ़ने के साथ ही आंखों में ड्राईनेस की समस्या होने लगती हैं. कुछ लोगों में यह समस्या बेहद कॉमन हो जाती हैं. हालांकि इन सबके अलावा कुछ बीमारियों में भी ड्राई आइज की समस्या झेलनी पड़ सकती है. इनमें एलर्जी, थाइराइड, सजोग्रेन सिंड्रोम, रुमेटीइड गठिया का होना और विटामिन ए या विटामिन डी की कमी भी आंखों के सूखेपन का कारण बन सकते हैं. इनका ध्यान रखना भी जरूरी होता है. 

आंखों के सूखेपन का ऐसे भी कर सकते हैं इलाज

दो पहिया वाहन चलाते समय चश्मा या हेलमेट जरूर पहनें, खुले में भी धूप का चश्मा पहनकर रखें. कंप्यूटर, लैपटॉप, मोबाइल चलाते समय आंखों को आराम दें, धुम्रपान न करें और स्मोकिंग या अन्य धुएं के आसपास न रहें, पानी अधिक पीएं, किताब पढ़ते समय कुछ मिनट का आराम आंखों को दिलाएं, एयरकंडीशन या पंखे की सीधी हवा आंखों को न लगें, आंखों को साफ पानी के छपके से दिन में एक या दो बार साफ कर लें. इन विधियों से भी आंखों के सूखेपन का काफी हद तक इलाज किया जा सकता है. 

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों को केवल सुझाव के रूप में लें, एबीपी न्यूज़ इनकी पुष्टि नहीं करता है. इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट और सुझाव पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें.

यह भी पढ़ें: सबकुछ हेल्दी खाने के बाद भी खराब रहता है आपका हाजमा… देखें, ये गलती तो नहीं कर रहे आप?

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link