गुरुग्राम में आखिरी नौकरी के दौरान आफताब हुआ था टर्मिनेट, घर के खर्च को लेकर श्रद्धा से होता था झगड़ा

aftab 1668597878


Shraddha Murder Case - India TV Hindi News
Image Source : FILE
श्रद्धा मर्डर केस

Shraddha Murder Case: दिल्ली का श्रद्धा मर्डर केस सुर्खियों में है। इस मर्डर केस के बारे में सुनकर पूरा देश हैरान है। आरोपी आफताब ने न केवल अपनी गर्लफ्रेंड का मर्डर किया बल्कि उसके शरीर के 35 टुकड़े भी किए। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया और उससे पूछताछ की जा रही है। दिल्ली पुलिस के टॉप सोर्सेस से ये जानकारी मिली है कि दिल्ली पुलिस छतरपुर एरिया की सीसीटीवी मैपिंग कर रही है। क्योंकि 6 महीने पहले हत्या हुई है, इसलिए 6 महीने का रिकार्ड खंगालने की कोशिश की जा रही है। कुछ जगह आफताब घर की तरफ आते-जाते दिख रहा है। हालांकि ज्यादातर जगह 15 दिन की ही सीसीटीवी रिकार्डिंग होती है, ऐसे में 6 महीने पुराना रिकार्ड निकालना बेहद मुश्किल है।

आखिरी नौकरी में आफताब 6-7 दिन रहा था अबसेंट, फिर किया गया टर्मिनेट

आफताब का परिवार दिल्ली पुलिस के संपर्क में है। जिन सीसीटीवी कैमरों में आरोपी आफताब नजर आ रहा है, ये हालही की सीसीटीवी फुटेज हैं। इन फुटेज के आधार पर पुलिस ये जानने की कोशिश कर रही है कि इन दिनों वो किनसे मिल रहा था। आफताब ने लास्ट जॉब गुरुग्राम के एक कॉल सेंटर में की थी जहां 6, 7 दिन अनुपस्थित रहने की वजह से उसको टर्मिनेट किया गया था।

श्रद्धा के पिता का डीएनए सैंपल लिया गया 

श्रद्धा के पिता का डीएनए सैंपल लिया गया है। जंगल से करीब 10 से 13 हड्डियां बरामद की गई हैं। उन्हें फोरेंसिक लैब में भेजा गया है, जिससे पता लगेगा कि वो श्रद्धा की हड्डियां हैं या किसी जानवर की। घर से कुछ ब्लड के निशान मिले हैं। पिता का डीएनए सेंपल ले लिया गया है, जिससे आगे बॉडी पार्ट और ब्लड सेंपल मैच किया जा सके। 

आफताब और श्रद्धा का 3 साल से चल रहा था झगड़ा

आफताब और श्रद्धा का 18 मई को पहली बार झगड़ा नहीं हुआ था। उनका झगड़ा 3 साल से चल रहा था। कई बार वो ब्रेकअप करने का प्लान कर चुके थे और एक बार ब्रेकअप भी कर लिया था। 18 मई को दोनों के बीच घर का सामान लेने को लेकर झगड़ा हुआ था। घर का खर्च और सामान कौन लाएगा के मुद्दे पर दोनों में कई बार नोंकझोंक हुई थी। आफताब ने ये बातें जांच में बताई हैं। हालांकि ये सच हैं या नहीं, ये जांच का विषय है। 

आफताब और श्रद्धा के बीच 18 मई की शाम से झगड़े शुरू हुए और 8 बजे से 10 बजे के बीच श्रद्धा का गला दबाकर कत्ल किया गया। रातभर डेडबॉडी रूम में ही रखी और अगले दिन आफताब चाकू और फ्रिज खरीदने गया।

पुलिस के लिए अभी भी बड़ी हैं चुनौतियां

पुलिस के लिए अभी काफी काम बाकी है। हत्या में इस्तेमाल किया गया हथियार बरामद नहीं हुआ है। इसके अलावा श्रद्धा का सिर, मोबाइल नहीं मिला है। हत्याकांड के दिन आफताब और श्रद्धा ने जो कपड़े पहने थे, वह भी नहीं मिले हैं। ये कपड़े एक कूड़े की मूविंग गाड़ी में फेक दिए गए थे।

इसके अलावा श्रद्धा का एक बैग आफताब के घर से मिला है। इसमें उसका सामान है। श्रद्धा के परिवार से उसकी पहचान कराई जाएगी। आफताब सितंबर में मुंबई पुलिस के पास गया था। तब आफताब ने कहा था कि श्रद्धा उससे झगड़ा करके चली गई। फिर एक बार अपना सामान लेने वापिस आई और चली गई। हालांकि मुंबई पुलिस को शक हुआ, जिसके बाद उन्होंने डीसीपी साउथ से संपर्क कर महरौली थाने में केस ट्रासंफर कराया। 

कई तरह की जांच बाकी

अभी इस केस में टेक्निकल, साइंटिफिक, डिजिटली काफी जांच बाकी हैं। इसी से कोर्ट में केस स्ट्रॉन्ग हो सकेगा। नार्को टेस्ट के लिए अर्जी दी गई है कोर्ट में, जिसपर अभी कोर्ट का कोई जवाब नहीं आया है। ये एक लंबा प्रोसेस होता है। आरोपी की सहमति भी जरूरी होती है। आफताब को 17 नवंबर को साकेत कोर्ट में पेश किया जाएगा और कस्टडी बढ़ाने के लिए एप्लिकेशन दिया जाएगा क्योंकि अभी हथियार, बॉडी के पार्ट्स समेत काफी चीजें बरामद करनी है।

Latest India News





Source link